देशमध्य प्रदेश

खुशियों की दास्तां: इंदौर में एक सितम्बर से नये हितग्राहियों को मिलने लगेगा राशन

इंदौर 19 अगस्त, 2020
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत इंदौर में जोड़े गये नये हितग्राहियो में से दो नयी हितग्राहियों सीता बाई और रईसा बी से वीडियों कांफ्रेसिंग के माध्यम से सीधे चर्चा की। उन्होंने इन हितग्राहियों से उनके परिवारिक स्थिति और अन्य मुद्‌दो पर बात की। मुख्यमंत्री से चर्चा के दौरान सीता बाई ने बताया कि पात्रता पर्ची (राशन कार्ड) मिल गया है। मुझे पेंशन भी नियमित रूप से मिल रही है। राशन कार्ड नहीं होने से राशन नहीं मिल रहा था। इसके कारण हमें बहुत परेशानी आ रही थी। अब यह समस्या हल हो गयी है। परिवार में 5 सदस्य है। राशन कार्ड मिलने से अब बहुत खुशी हो रही है।
इसी तरह मुख्यमंत्री चौहान ने इंदौर की ही रईसा बी से भी चर्चा की। मुख्यमंत्री ने रईसा बी से उनकी परेशानी पूछी। रईसा बी ने बताया कि परिवार में 6 सदस्य है। राशन कार्ड नहीं होने से अभी तक राशन नहीं मिल रहा था। बहुत परेशानी आ रही थी। अब यह समस्या नहीं रहेगी। खान-पान का इंतजाम हो गया है। मैं आज बहुत खुश हूं। मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत जिन नये पात्र हितग्राहियों के नाम जोड़े गये है, उन्हें गेहूं, नमक, केरोसिन आदि सामग्री मिलेगी। उक्त दोनो हितग्राहियों ने आभार व्यक्त करते हुये मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।


मुख्यमंत्री चौहान ने इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह से भी चर्चा की। मनीष सिंह ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत जोड़े जा रहे नये हितग्राहियों के कार्य की प्रगति की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि इंदौर जिले में आगामी 31 अगस्त तक सभी पात्र हितग्राहियों के नाम जोड़ लिये जाये। एक भी पात्र हितग्राही नाम जुड़ने और पात्रता पर्ची से वंचित नहीं रहे।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सभी नये हितग्राहियों को एक सितम्बर से राशन मिलना शुरू हो जायेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्य की शुरूआत इंदौर जिले में विधानसभावार कार्यक्रम आयोजित कर की जाये। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित करे। उन्होंने कहा कि इसी नयी व्यवस्था के साथ ही कोरोना के कारण दी जा रही राशन व्यवस्था को भी नवम्बर माह तक चालू रखा जाये। श्री चौहान ने कहा कि गरीब की जिंदगी खुशहाल करना ही हमारा लक्ष्य है। इस दिशा में हम तेजी से आगे बढ़ रहे है।
उल्लेखनीय है कि राज्य शासन द्वारा दिये गये निर्देश के अनुरूप राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत 24 श्रेणी के पात्र ऐसे परिवार जिनके नाम पूर्व में पात्रता पर्ची बनाने से छूट गये थे, उनके नाम जोड़े जा रहे है। इनके नाम जोड़ कर पात्रता पर्ची (राशन कार्ड) जारी किये जायेंगे। जिससे की उन्हें राशन मिल सकेगा।

Related posts
देशमध्य प्रदेश

उपचुनाव से पहले तबादले, नगरीय प्रशासन के कई अधिकारी इधर से उधर

इंदौर : नगरीय विकास एवं आवास विभाग…
Read more
देशमध्य प्रदेश

शिवराज की रोज़ की करोड़ों की घोषणाओं का हिसाब लगाया जाये तो सरकार का बजट भी कम पड़ जाए- कमल नाथ

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने…
Read more
देशमध्य प्रदेश

जिला-प्रशासन की नई पहल, प्राइवेट डॉक्टर से टेली कॉलिंग से परामर्श ले सकेंगे कोरोना मरीज

भोपाल 25 सितम्बर 2020। कलेक्टर अविनाश…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group