दिल्लीदेश

Super Cyclone Amphan : प. बंगाल-ओडिशा में दिखने लगा तूफ़ान का असर, तबाही का बना खतरा!

नई दिल्ली : देश में जहां एक ओर कोरोना वायरस का संकट बढ़ता जा रहा है, वहीं देश में इस सदी के पहले बड़े तूफ़ान का खतरा भी बढ़ता जा रहा है. मौसम विभाग के अनुसार, कल यानी 20 मई को पश्चिम बंगाल के तट से टकराने वाला है.

बता दें कि यह तूफ़ान इससे पहले साल 1999 में आया था. उस समय भी इस तूफ़ान ने काफी तबाही मचाई थी. सुपर साइक्लोन की कैटेगरी में उस तूफान को रखा जाता है जिसकी रफ्तार 240-250 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा हो. दूसरी ओर मौसम विभाग के डायरेक्‍टर जनरल मृत्‍युंजय मोहापात्र ने कहा कि “चक्रवात अम्‍फान का रास्‍ता 2019 में आए बुलबुल तूफान की तरह है. लेकिन, जब यह जमीन पर टकराएगा तो 1999 के सुपर साइक्‍लोन फानी के जितना प्रचंड नहीं रहेगा.”

बता दें कि पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कई इलाकों में इस तूफ़ान का असर दिखाई देने लगा है. कई इलाकों में तेज हवाओं के साथ लगातार बारिश हो रही है. मौसम विभाग द्वारा कहा जा रहा है कि हवाएं शाम तक तेज हो जाएंगी. इसके बाद 20 मई की सुबह के बाद तूफान की रफ्तार 200 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार को पार कर जाएगी.