अन्य

GST का अजीब फरमान, रोटी पर 5%, पराठे पर 18% टैक्स, सोशल मीडिया ने लिए मजे

कर्नाटक: आमतौर पर लोग खाने में रोटी और पराठे में अंतर नहीं समझते है लेकिन जब बात जीएसटी की हो तो इन दोनों में बड़ा अंतर होता है। ऐसा ही एक मामला कर्नाटक से आया है, जिसकी सोशल मीडिया पर खूब चुटकी ली जा रही है।

दरअसल, कर्नाटक में जीएसटी के एक आदेश में कहा गया है कि रोटी और पराठा में अंतर है, इसलिए रोटी पर तो 5 फीसदी ही वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लगेगा, लेकिन पराठे पर यह 18 फीसदी की दर से लगेगा। इस आदेश के सोशल मीडिया पर खूब मजे लिए जा रहे है।

खबरों के मुताबिक एक जीएसटी विवाद को लेकर कर्नाटक की एडवांस रूलिंग्स अथॉरिटी ने फैसला दिया है कि केरल के मालाबार पराठे पर 18 फीसदी की दर से जीएसटी दर लगेगा, जबकि रोटी पर पांच फीसदी जीएसटी दर लागू है। इस खबर के आने के बाद प्रख्यात उद्योगपति आनंद महिंद्रा ने भी ट्वीट कर इस पर चुटकी ली।

ये है पूरा मामला

दरअसल, इसको लेकर एक याचिका दायर की गई थी, जिस्मने कहा गया था कि मालाबार पराठे को ‘खाखरा, चपाती या रोटी’ की श्रेणी में घोषित किया जाए. लेकिन अथॉरिटी फॉर एडवांस रूलिंग्स (कर्नाटक पीठ) ने याचिकाकर्ता की इस मांग को खारिज कर दिया। जीएसटी नोटिफिकेशन के शेड्यूल 1, एंट्री 99 ए के तहत रोटी पर पांच फीसदी की दर से जीएसटी लगता है।

पीठ ने रोटी और पराठे पर अलग-अलग जीएसटी लगाने का फैसला देते हुए दलील दी कि रोटी पहले से ही बना-बनाया या पूरी तरह से पका हुआ उत्पाद है, जबकि पराठा को खाने के लिए परोसने से पहले गरम करना पड़ता है। असल में जिस पराठे पर यहां जीएसटी लगने की बात है वह रेडी टु कुक यानी तैयार पराठा होता है, जिसे गर्म कर खाया जा सकता है। इस पराठे को खाने लायक बनाने के लिए और प्रोसेसिंग करने की जरूरत पड़ती है।

आनंद महिंद्रा ने ली चुटकी

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर कहा, ‘देश जब कई तरह की चुनौतियों का सामना कर रहा है, तो यह बात आपको चकित कर सकती है कि हम पराठे को लेकर चिंतित हैं। भारतीयों में जिस तरह से जुगाड़ का कौशल है, मुझे पक्का यकीन है कि कोई परोटीज का एक तीसरी श्रेणी तैयार कर लेगा।’

Related posts
breaking newsscroll trendingअन्यदेश

रेलवे फिर बुला रहा अपने मजदूर, हजारों श्रमिकों को मिलेगा काम

नई दिल्ली। लाॅकडाउन के कारण बड़े शहरों…
Read more
अन्यदेश

नहीं मिल रहे मजदूर! फ्लाइट टिकट, खाना और फ्री रहने को दे रही हैं कंपनियां

नई दिल्ली: लॉकडाउन मव अपने-अपने गांव…
Read more
breaking newsscroll trendingअन्यगुजरातदेशमध्य प्रदेश

मुंबई-गुजरात में बारिश से बुरा हाल, इन इलाकों में जबरदस्त जलभराव

मुंबई। कोरोना ने जिस तरह देश में सबसे…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group