मध्य प्रदेश

तीन-चार दिन में सवा चार हजार से अधिक नागरिकों ने फीवर क्लीनिक पर कराया परिक्षण

इंदौर: कोरोना की रोकथाम एवं उसपर प्रभावी नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन द्वारा योजनाबद्ध रूप से विभिन्न स्तरों पर कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि इसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहे हैं। जिले में सर्दी, खाँसी, बुखार, श्वास लेने में दिक्कत वाले मरीजों के परीक्षण एवं इलाज के लिए फीवर क्लीनिक स्थापित किए गए हैं। स्थापना के शुरूआती दौर में ही नागरिकों का विश्वास बनने लगा है। फीवर क्लीनिक शुरू हुए मात्र तीन-चार दिन ही हुए हैं कि इनमें सवा चार हजार से अधिक नागरिकों ने पहुंचकर अपना परीक्षण कराया है।

कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देश पर फीवर क्लीनिकों में आने वाले मरीजों के लिए छाया, पेयजल आदि के प्रबंध किए गए हैं। पिछले दिनों 26 मई को उन्होंने फीवर क्लीनिक के संबंध में सभी फीवर क्लीनिक के प्रभारी चिकित्सकों को बैठक लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए हैं। आम नागरिकों का फीवर क्लीनिक के प्रति तेजी से विश्वास बढ़ रहा है। स्वयं आगे आकर इन क्लीनिकों में पहुंच रहे हैं। सिविल सर्जन डॉ. संतोष वर्मा ने बताया कि अभी तक फीवर क्लीनिक की ओपीडी में सवा चार हजार से अधिक मरीजों का परीक्षण किया जा चुका है। इनमें से सामान्य सर्दी, खाँसी के 235 मरीज मिले। इन सभी का उपचार किया गया। साथ ही कोरोना के संभावित लक्षण दिखाई देने वाले 25 मरीज भी पाए गए। इन सभी 25 मरीजों को एमटीएच हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। इस अस्पताल में सैंपल लेकर इनकी जांच कराई जा रही है।

आवश्यकता के अनुसार इनका उपचार शुरू कर दिया गया है। अगर वे फीवर क्लीनिक नहीं आते तथा पॉजिटिव निकलते हैं तो वह अन्य कई लोगों को प्रभावित कर सकते थे। समय रहते इन लोगों को चिन्हित करने और सामने आने से समाज को फायदा मिलेगा। डॉ. वर्मा ने बताया कि इसके साथ ही 122 नागरिकों को होम कोरेंटाइन किया गया है। होम कोरेंटाइन संबंधी अंडरटेकिंग फॉर्म भी इनसे भरवाया गया है। होम कोरेंटाइन किए गए नागरिकों के स्वास्थ्य पर सतत निगरानी स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा रखी जा रही है। प्रत्येक तीन दिन में इनका फीवर क्लीनिक में चेकअप भी किया जायेगा।

बताया गया कि जिले में कुल 43 फीवर क्लीनिक स्थापित किए गए हैं। इनमें से 18 फीवर क्लीनिक इंदौर शहरी क्षेत्र में तथा शेष 25 फीवर क्लीनिक इंदौर ग्रामीण क्षेत्र में बनाये गये हैं। इंदौर शहर में मल्हारगंज पॉली क्लीनिक, प्रेम कुमारी देवी चिकित्सालय, शिवाजी नगर, बाणगंगा, सुभाष नगर, अरण्य नगर ,निरंजनपुर, मांगीलाल चुरिया चिकित्सालय, खजराना, बड़ी ग्वालटोली, जूनी इन्दौर, राजेन्द्र नगर, सुदामा नगर, एमओजी लाईन्स डिस्पेसरी, बाबू मुराई, शिवकण्ठ नगर, भंवरकुआ डिस्पेंसरी तथा बिचौली हप्सी में फीवर क्लीनिक बनाये गये हैं।

इसी तरह ग्रामीण क्षेत्र में मानपुर, भगोरा, हसलपुर, कोदरिया, सिमरोल, गवली पलासिया, हरसोला, सिविल हास्पीटल महू, देपालपुर, बेटमा, अटाहेडा, धन्नड़, गौतमपुरा, जलोदियाज्ञान, पलासियापार, हातोद, पिवड़ाय, कम्पेल, तिल्लोरखुर्द, सांवेर, डकाच्या, शिप्रा, कुड़ाना, चन्द्रावतीगंज तथा पालिया में फीवर क्लीनिक खोले गये हैं।

Related posts
breaking newsscroll trendingअन्यगुजरातदेशमध्य प्रदेश

मुंबई-गुजरात में बारिश से बुरा हाल, इन इलाकों में जबरदस्त जलभराव

मुंबई। कोरोना ने जिस तरह देश में सबसे…
Read more
देशमध्य प्रदेश

MP : उपचुनाव के लिए बीजेपी की पहली रैली का आगाज!, सिंधिया भी होंगे शामिल

भोपाल : ज्योतिरादित्य सिंधिया के…
Read more
देशमध्य प्रदेश

मोघे ने सिंधिया परिवार से तीन पीढयों के सम्बंध का खोला राज

भोपाल : पिछले दिनों भोपाल में आयोजित…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group