मध्य प्रदेश

लॉकडाउन में मिल रही छूट से 50 मैगावाट बढ़ी बिजली की मांग

इंदौर। लॉकडाउन में धीरे-धीरे छूट मिलने के बाद शहर की बिजली मांग में सतत इजाफा हो रहा है। मई के दौरान ही बिजली की मांग 50 मैगावाट बढ़कर 372 मैगावाट तक पहुंच गई है।

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के इंदौर शहर अधीक्षण यंत्री अशोक शर्मा ने बताया कि शहर में मार्च में लॉकडाउन के दौरान बिजली की मांग 245 मैगावाट तक घट गई थी। इसके बाद घरेलू मांग में सतत इजाफा हो रहा है। मई के पहले सप्ताह में बिजली की अधिकतम मांग 322 मैगावाट थी, जो अब 372 मैगावाट तक पहुंच गई है। इस मांग की आपूर्ति में रोज करीब 78 लाख यूनिट बिजली वितरित हो रही है। शर्मा ने बताया कि प्रबंध निदेश विकास नरवाल के निर्देशानुसार रोज ही शहर के 30 जोन की आपूर्ति के संबंध में सघन मानिटरिंग हो रही है।

बिल की शिकायतें मात्र 5 फीसदी

अधीक्षण यंत्री अशोक शर्मा ने बताया कि शहर में मई में 2 लाख उपभोक्ताओं ने बिल जमा किया है। इसमें से 10 हजार के बिल सुधार आवेदन मिले, इन्हें तत्काल सुधारा गया। इस तरह 5 फीसदी बिलों में सुधार की स्थिति बनी, ज्यादातर शिकायतें आकलित खपत को लेकर मिली थी। उन्होंने बताया कि इस माह वास्तविक रीडिंग हो रही हैं, इससे जून में बिल संबंधी शिकायतों का स्तर और घटेगा।

2.82 लाख को सस्ती बिजली

रियायती दर पर बिजली पाने वालों की संख्या इंदौर शहर में 2.82 लाख रही। इन उपभोक्ताओं को प्रथम सौ यूनिट तक बिजली 1 रूपए यूनिट की दर से उपलब्ध कराई गई। कंपनी स्तर पर रियायती दर पर बिजली पाने वाले उपभोक्ता 32 लाख रहे।