देशमध्य प्रदेश

सीएम शिवराज का ऐलान- मप्र में बनेगा मजदूर आयोग, श्रम सिद्धि योजना भी शुरू

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को प्रदेश की जनता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने लॉक डाउन को 30 जून तक बढ़ाने का ऐलान किया है। हालांकि इस दौरान शिवराज ने कई राहत का भी ऐलान किया है। जिसके चलते कंटेनमेंट एरिया को छोड़कर 8 जून से सभी धार्मिक स्थलों को खोल दिया जाएगा। हालांकि इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य होगा।

मजदूरों के लिए यह ऐलान

इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि प्रदेश सरकार मजदूरों के लिए मजदूर कमीशन बनाने जा रही है। सरकार सभी को रोजगार देने में भी जुटी हुई है। वहीं यदि कोई मजदूर बाहर जाता है तो उसे कलेक्टर के पास अपना पंजीकरण कराना पड़ेगा। ऐसे में हमें पता चल पाएगा कि हमारा कौन सा मजदूर कहां पर है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने वापस आए मजदूरों के लिए श्रम सिद्धि योजना भी शुरू की है। जिसके अंतर्गत उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। सरकार सबका सर्वे कर रही है। जिसके तहत उन्हें रोजगार दिया जाएगा। उन्होने कहा कि अब तक 6 लाख से अधिक प्रवासी मजदूरों को बस और ट्रेन के जरिए उनके घर तक पहुंचाया है। साथ ही अन्य प्रदेशों से आए मजदूरों के लिए भी तमाम व्यवस्थाएं कर उन्हें उनके घरों पर पहुंचाया गया है।

छोटे व्यवसायियों को 10 हजार रुपए की सहायता

मुख्यमंत्री ने बताया कि हाथ ठेला चलाने वाले, छोटे-मोटे व्यवसायियों और मजदूरों को बैंकों के जरिए 10 हजार रुपए की सहायता दिलवाई जाएगी। जिसकी गारंटी सरकार लेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिलाएं बड़े स्तर पर मास्क बना रही है। जिन्हें राज्य सरकार खरीदेगी साथ ही महिलाएं अब स्कूल ड्रेस भी बनाएगी।

बिजली बिल में राहत

इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज ने बिजली बिल में राहत का भी ऐलान किया है उन्होंने कहा कि दुकानें, शोरूम, अस्पताल रेस्टोरेंट, मैरिज गार्डन, पार्लर एमएसएमई और बड़े उद्योग आदि के अप्रैल से जून तक के फिक्स चार्ज की वसूली स्थगित कर दी गई है, अक्टूबर से 6 किस्तों में बिना ब्याज के वसूली होगी। उन्होने कहा कि लगभग 12 लाख व्यवसायियों को इसका लाभ मिलेगा। लगभग 700 करोड़ की वसूली स्थगित की जा रही है।