scroll trendingदेशमध्य प्रदेश

कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को मिर्ची लग रही है कि कुर्सी चली गई : ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल। शिवराज सरकार का तीन महीने बाद मंत्रिमंड़ल विस्तार हो गया। मंत्रिमंड़ल विस्तार में हुई देरी को लेकर अक्सर विपक्ष ने सवाल उठाए है। वहीं आज मंत्रिमंड़ल के विस्तार के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर फिर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को सेवा से लेना देना नहीं है। उन्हें तो बस इस बात की मिर्ची लग रही है कि कुर्सी चली गई।

इतना ही नहीं वे इस मौके पर शिवराज की तारिफ करने से भी नहीं चुके उन्होंने कहा कि मैं बता दूं कि टाइगर अभी जिंदा हैं। वहीं अपने समर्थकों को कैबिनेट में शामिल करवाने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जितने भी मंत्री हों, ये नंबर का गेम नहीं बल्कि सेवा का गेम है। बता दें कि शिवराज के 28 नए मंत्रियों में से 9 से ज्यादा सिंधिया समर्थक है।

मंत्रियों के शपथ समारोह के बाद कमलनाथ ने भी ट्वीट कर उन्हें बधाई दी साथ ही उन्होने इस बात पर भी दुख जताया की मंत्रिमंडल मे अनुभवियों को जगह नहीं दी गयी।  ट्वीट शेयर कर कमलनाथ ने लिखा है कि प्रदेश सरकार के आज के मंत्रिमंडल के गठन पर मै सभी नवीन मंत्रियो को बधाई व शुभकामनाएँ देता हूँ और उम्मीद करता हूँ कि प्रदेश के विकास में सभी मिल जुलकर कार्य करेंगे और प्रदेश के विकास में सहभागी बनेंगे।

उन्होने आगे लिखा कि आज के मंत्रिमंडल के गठन में कई योग्य , अनुभवी , निष्ठावान भाजपा के वरिष्ठ विधायकों का नाम नहीं पाकर मुझे व्यक्तिगत तौर पर बेहद दुःख भी है। लोकतंत्र के इतिहास में मध्यप्रदेश का मंत्रिमंडल ऐसा मंत्रिमंडल है , जिसमें कुल 33 मंत्रियो में से 14 वर्तमान में विधायक ही नहीं है। यह संवैधानिक व्यवस्थाओं के साथ बड़ा खिलवाड़ है। प्रदेश की जनता के साथ मज़ाक है।

Related posts
देश

इंदौर निगम आयुक्त द्वारा सफाई व्यवस्था का निरीक्षण, ड्रेनेज समस्या का तत्काल निराकरण करने के दिए आदेश

इंदौर, 07 अगस्त शुक्रवार । आयुक्त…
Read more
देश

जरुरतमंद लोगो को निशुल्क मास्क का वितरण किया जावेगा- सांसद शंकर लालवानी

इंदौर 07 अगस्त शुक्रवार । सांसद शंकर…
Read more
देश

इंदौर: बदमाशों सुधर जाओ वार्ना चलेगा "झेलो रासुका” शांती से रहो अन्यथा झेलो रासुका” अभियान

इंदौर 07 अगस्त शुक्रवार।…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group