जम्मू कश्मीर

जम्मू-कश्मीर: पकड़ा गया पाक का ‘जासूस” कबूतर, पैर में कोड नंबर के साथ मिली अंगूठी

श्रीनगर: कोरोना संकट के बीच भी पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। वह लगातार घाटी में दहशत फैलाने की कोशिश कर रहा है। हाल ही में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे मनियारी गांव में पाकिस्तान से आया संदिग्ध कबूतर पकड़ा गया। इससे पहले सेना ने चार आतंकियों को गिरफ्तार किया था।

पाकिस्तान से आए कबूतर के पैर में सांकेतिक भाषा में कोड बंधा होने के चलते सुरक्षा एजेंसियां भी चौकस हो गई हैं। दरअसल, रविवार शाम को आए इस कबूतर को लोगों ने पकड़ कर बीएसएफ के अधिकारियों के हवाले कर दिया। जिसे एसडीपीओ बॉर्डर को सौंप दिया गया। मामले की जांच जारी है।

कठुआ के एसएसपी शैलेंद्र मिश्रा का कहना है कि ‘हमें नहीं पता कि यह कहां से आया है। स्थानीय लोगों ने इसे पकड़ कर बीएसएफ के अधिकारियों के हवाले किया है। हमें इसके पैर में एक अंगूठी मिली है, जिस पर कुछ नंबर लिखे हैं। इनवेस्टिगेशन चल रहा है। उसके पांव में सांकेतिक भाषा में संदेश लिखा हुआ है, जिसे लेकर सुरक्षा एजेंसियां गंभीर हैं। संदेश को डीकोड करने की कोशिश की जा रही है।’

मोतीगढ गांव से भी बरामद हुआ था कबूतर

करीब दो महीने पहले भी बीकानेर जिले के मोतीगढ गांव से पुलिस ने पाकिस्तान से आए एक कबूतर को पकड़ा था। इस कबूतर के पंखों पर ऊर्दू में संदेश और पैर में छल्ले बंधे हुए थे। पुलिस के साथ ही गुप्तचर एजेंसी ने इस कबूतर की जांच की। लेकिन इसी बीच कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन शुरू हो गया और पुलिस एवं गुप्तचर एजेंसी अन्य कार्यों में व्यस्त हो गई। इस कारण कबूतर की अब तक जांच पूरी नहीं हो सकी।