देश

जे.पी. नड्डा ने चीन सीमा विवाद पर राहुल गांधी पर साधा निशाना

भोपाल- प्रदेश की वर्चुअल जनसंवाद रैली को संबोधित करते हुए शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चीन सीमा विवाद को लेकर राहुल गांधी पर निशाना साधा है। नड्डा ने कहा कि 2017 दोकलम गतिरोध के दौरान राहुल गांधी गुप्त रूप से भारत में चीन के राजदूत के साथ दिल्ली में वार्ता कर रहे थे। आज गलवां घाटी को लेकर भी कांग्रेस देश को गुमराह कर रही है।
उन्होंने कहा कि गलवां घाटी में हुई घटना पर भी कांग्रेस ने राजनीति की, ये वहीं कांग्रेस है, जब 2017 के अगस्त में चीन और भारत का स्टैंड ऑफ हो रहा था। उस समय राहुल गांधी चीन के राजदूत के साथ गुपचुप मुलाकात कर रहे थे।


साथ ही नड्डा ने कहा कि आज मैंने टीवी में देखा और दंग हूं कि राजीव गांधी फाउंडेशन को 2005-06 में पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना और चीन की एंबेसी ने मोटी रकम राजीव गांधी फाउंडेशन को दिया। ये है चीन और कांग्रेस का गुपचुप रिश्ता।
वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा कि गलवान घाटी के विषय को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने कहा कि मोदी जी देश के लिए हम सब एक साथ खड़े हैं, आप आगे बढ़ें हम सभी साथ हैं। सिर्फ एक परिवार ने उनकी नीयत और नीति पर प्रश्न खड़े करने शुरू किए। भ्रष्टाचार के बहुत रूप होते हैं, लोगों को अपने पक्ष में करने के बहुत से तरीके होते हैं। और आज चीन के खिलाफ ऐसे खड़े हैं कि इनसे बराबर का कोई प्रहरी ही नहीं हो। एक परिवार की गलतियों के कारण 43 हजार स्क्वेयर किमी भूमि चली गई।


भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस पर आरोप लगाया, कहा कि ये चीन से फंड लेते हैं और उसके बाद वो स्टडी कराते हैं, जो देश के हित में नहीं, और ये उसके लिए वातावरण तैयार करते हैं। उन्होंने कहा कि देश जानना चाहता है कि राजीव गांधी फाउंडेशन को इतना पैसा किस बात के लिए दिया गया था और उन्होंने देश में क्या स्टडी की थी, ये भी देश जानना चाहता है।
नड्डा ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जब-जब देश संकट में आया तब चाहे हम जनसंघ हों या भाजपा हमेशा देश के साथ खड़े रहें। लेकिन मुझे दु:ख के साथ कहना पड़ रहा है कि आज जब देश संकट में आया तब कांग्रेस ने सिर्फ देश को बदनाम करने का काम किया।