देश

अम्फान : ओडिशा-पश्चिम बंगाल में NDRF की 17 टीमें तैनात, नौसेना अलर्ट!

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी अम्फाल अगले 24 घंटे में गंभीर चक्रवानी तूफान में बदल सकता है। साथ ही सोवार सुबह तक यह अतयधिक गंभीर तूफान की श्रेणी में आ सकता है। ऐसे में चक्रवाती तूफान से खड़े होने वाले संकट को देखते हुए राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (एनडीआरएफ) की 17 टीमों की ओडिशा और पश्चिम बंगाल के अलग-अलग जिलों में तैनाती की गई है।

एनडीआरएफ के महानिदेशक एस एन प्रधान ने एक वीडियो संदेश में बताया कि संघीय आकस्मिक बल स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। हमने राज्य सरकारों, भारतीय मौसम विभाग और सभी एजेंसियों से संपर्क बना रखा है। उन्होने कहा कि पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ की सात टीमें तैनात की गई है। जिसमें दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना, पूर्वी मिदनापुर, पश्चिम मिदनापुर, हावड़ा और हुगली समते छह जिलों के नाम शामिल हैं। जबकि 10 टीमों की ओडिशा के पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, जाजपुर, भद्रक, बालासोर और मयूरभंज में तैनाती की गई है।

बता दे कि तूफान अम्फान फिलहाल उत्तर-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। रविवार सुबह 5.30 बजे इसमें तेजी देखी गई थी। अम्फाल ओडिशा के दक्षिण पारादीप से 990 किमी, पश्चिम बंगाल के दक्षिण-दक्षिण पश्चिम दीघा से 1140 किमी और बांग्लादेश के दक्षिण- दक्षिण पश्चिम से 1260 किमी दूरी पर है।

नौसेना तैनात

जानकारी के अनुसार, नौसेना के जहाजों में गोताखोर, डॉक्टर समेत सभी राहत सामग्री तैयार कर ली गई है। इसी बीच ओडिशा और पश्चिम बंगाल में बचाव और राहत प्रयासों के लिए मेडिकल टीम के साथ बचाव दल भी तैनात हो गया है।

इस वजह से बन रहा चक्रवाती तूफान

मौसम विभाग ने इस तूफान के बारे में जानकारी दी है। विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के ऊपर और दक्षिण अंडमान सागर के पास कम दबाव का क्षेत्र बनने से यह तूफान बन रहा है। मौसम विभाग ने कहा कि अगर ये चक्रवाती तूफान के तौर पर विकसित हुआ तो ये 17 मई तक उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा और फिर उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने का अनुमान है। इस समय हवा की रफ्तार 55-65 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है, जो बढ़कर 75 किलोमीटर प्रतिघंटा तक पहुंच सकती है।