सातवां वेतन आयोग: फिटमेंट फैक्टर बढ़ने से 52 लाख कर्मचारियों को होगा लाभ, सैलरी में होगा इजाफा

1 अगस्त 2022 से नया महंगाई भत्ता लागू हो सकता है। क्योंकि एआईसीपीआई के अनुसार 1 अगस्त 2022 से महंगाई भत्ते में चार से पांच फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है, मतलब 38 से 39% डीए हो सकती है।

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर सामने आई है। आपको बता दें कि सरकार अब अगले फिटमेंट फैक्टर को लेकर बड़ा फैसला ले सकती है। इसके चलते कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में बढ़ोतरी होगी और इसका ड्राफ्ट भी तैयार किया जाएगा, जिसे सरकार को भेजना होगा। बताया जा रहा है कि ड्राफ्ट जमा करने के बाद ही जुलाई के अंत मे इस पर बैठक आयोजित होगी। इसको लेकर यूनियन ने अपडेट दिया है। अगर इस पर बात बन जाती हैं तो करीब 52 लाख से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में फिटमेंट फैक्टर में भी बढ़ोत्तरी हो जाएगी।

लेकिन कर्मचारियों के लिए यह बहुत ही खुशी की बात है कि 1 अगस्त 2022 से नया महंगाई भत्ता लागू हो सकता है। क्योंकि एआईसीपीआई के अनुसार 1 अगस्त 2022 से महंगाई भत्ते में चार से पांच फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है, मतलब 38 से 39% डीए हो सकती है। एआईसीपीआई के मई तक के इंडेक्स के नंबर्स जारी हो गए हैं। इस दौरान जून के नंबर्स के बाद सरकार अब इसको लेकर घोषणा भी कर सकती है। लेकिन अगर फिटमेंट फैक्टर पर सरकार की सहमति बन जाती है तो केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स की सैलरी में भी ओर ज्यादा बढ़ोतरी हो सकती।

Must Read- आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने हेतु पुलिस ने की कार्यवाही, 3 कुख्यात बदमाशों को किया जिलाबदर

आपको बता दें कि सातवें वेतन आयोग में फिटमेंट फैक्टर से केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी तय होती है। अगर केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी अगर ढाई गुना से ज्यादा हो जाती है तो कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 2.57 गुना की दर से है तो न्यूनतम बेसिक सैलरी ₹18000 रुपये हो जाती है और अधिकतम बेसिक सैलेरी ₹56900 रुपये तक हो जाएगी। तो साफ है कि अगर फिटमेंट फैक्टर में अगर बढ़ोतरी होती है तो केंद्रीय कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी भी बढ़ जाती है।