सरकारी कर्मचारियों का साल में 2 बार होगा प्रमोशन, सीएम गहलोत ने डीसीपी की बैठक के प्रस्ताव को दी मंजूरी

अब राजस्थान सरकार के अधिकारियों और कर्मचारियों को साल में दो बार प्रमोशन मिलेगा। दरअसल यहां विभागीय पदोन्नति समिति के बाद अब बचे हुए पदों के लिए भर्ती समिति की एक और समीक्षा बैठक होने वाली है।

सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल अब राजस्थान सरकार के अधिकारियों और कर्मचारियों को साल में दो बार प्रमोशन मिलेगा। दरअसल यहां विभागीय पदोन्नति समिति के बाद अब बचे हुए पदों के लिए भर्ती समिति की एक और समीक्षा बैठक होने वाली है। इस दौरान सीएम अशोक गहलोत ने साल में दो बार डीपीसी की बैठक करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। हालांकि यह खबर के बाद कर्मचारी और अधिकारी बहुत खुश है।

दरअसल वित्तीय वर्ष राज्य में पदोन्नति की प्रक्रिया 1 अप्रैल से प्रारंभ हो जाती है। ऐसे में कई विभागों में जून-जुलाई तक डीसीपी की बैठक आयोजित होती है। इस दौरान 1 अप्रैल तक पूरे वर्ष के लिए रिक्तियां भी शामिल है। लेकिन इस दौरान अगर कोई नियमित विभागीय पदोन्नति समिति मिलने के बाद भी अगर कोई सेवा से अलग हो जाते हैं जैसे अनिवार्य सेवानिवृत्ति, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति, पदोन्नति स्वीकार नहीं करनी या किसी कर्मचारी की मृत्यु हो जाने पर ऐसे निम्न कारणों की वजह से पद खाली हो जाते हैं। ऐसे में उन पदों को भरने के लिए इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। हालांकि मंजूरी मिलने से राज्य सरकार के कर्मचारियों और अधिकारियों को पदोन्नति के और भी अधिक अवसर मिलेंगे और ऐसे में सरकारी कामकाज भी अच्छे से हो पाएगा।

Must Read- कर्मचारियों की मांग बनी केंद्र सरकार के लिए बड़ी चुनौती, रुक सकती है पुरानी पेंशन स्कीम
हालांकि डीसीपी की बैठक 30 सितंबर से पहले होती है, लेकिन यदि किसी पद में 15% से अधिक पद 31 दिसंबर तक खाली हो जाते हैं तो ऐसे में उन पदों को भरने के लिए डीसीपी की सिफारिशों की समीक्षा होती है और वित्तीय वर्ष में 31 मार्च तक दूसरी बैठक में इन पदों को भर सकते है।