UP में गैंगरेप पीड़िता ने CO से लेकर DIG तक लगाई गुहार, नाबालिग को इंसाफ नहीं मिलने पर दे दी जान

पीड़िता ने सुसाइड नोट में लिखा कि, आरोपियों पर कार्यवाही करने के लिए सीओ और डीआईजी तक शिकायत की थी।

उत्तर प्रदेश में नाबालिग से कथित तौर पर हुए गैंग रेप से आरोपियों पर पुलिस ने कार्यवाही नही करने की वजह से बीते बुधवार को आत्महात्या कर ली है। पीड़िता ने सुसाइड नोट में लिखा कि, आरोपियों पर कार्यवाही करने के लिए सीओ और डीआईजी तक शिकायत की थी। लेकिन पुलिस उन पर कार्यवाही करने की जगह मेरे उपर जबरन दबाव बना रही है।

रेप पीड़िता की मौत के बाद पुलिस तिलमिलाई हुई है। वहीं पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा ने बताया कि, रेपिस्ट के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया गया हैं। कोर्ट में पीड़िता के बयान के बाद तीन आरोपियों के और तीन नाम समने आए है। अब आत्महत्या के लिए मजबूर करने की धारा और बढ़ाई जा रही है  आरोपियों को पकड़ने के लिए एसओजी टीम का गठन कर लिया हैं। पीड़िता के परिवार वालों ने पुलिस पर जबरन आरोप लगा रहे कि रेपिस्ट को गिरफ्तार नहीं किया जा रहा हैं।

Also Read : तेल कंपनियों ने अपडेट किए पेट्रोल-डीजल के रेट्स, जानें देश के प्रमुख राज्यों में कीमतें

यह घटना कुढ़फतेहगढ़ थाना इलाके के एक गांव का है। बीती 15 जुलाई को 15 साल की नाबालिग के उसी के गांव के रहने वाले चार लोगों ने दुष्कर्म किया था। 15 जुलाई को ही रेपिस्ट के खिलाफ पुलिस ने पॉक्सो एक्ट की धाराओं मे केस दर्ज कर लिया था। इसके बाद से आरोपी खुले घुम रहे है। लगतारा पीड़िता और उसके परिवार वाले संबंधित अधिकारियों को इसकी शिकायत करते रहे।

लेकिन पीड़िता हताश होकर बुधवार को अपने ही घर पर फांसी के फंदे पर लटक गई। मृतक की मां जब स्कुल से घर आई और लगातार दरवाज बजाने के बाद भी नही खोला तो पडोसियों ने दरवाज तोड़ तोे देखा पीड़िता फंदे पर लटकी दिखी। शव के पास से एक नोट मिला जिसमें लिखा था कि आरोपियों पर कार्यवाही करने के लिए सीओ और डीआईजी तक शिकायत की थी। लेकिन रेपिस्ट अभी भी बाहर ही घुम रहें हैं।