हरिद्वार: कोरोना ने इस बार पिछले साल की तुलना में दुगुना केहर बरपाया है, चारो और मौत की खबरे और इलाज के आभाव की खबरे सामने आ रही है, अचानक देश में बड़े इस संक्रमण ने लोगों सभी के होश उड़ा रखे है, ऐसे में इस साल के सबसे बड़े धार्मिक आयोजन जो 12 साल में एक बार होता है, वो है महाकुंभ जो इस वर्ष हरिद्वार में लगा था, लेकिन कोरोना के कारण इसे समय से पहले ही बंद करना पड़ा, लेकिन अभी भी चैत्र पूर्णिमा के स्नान के लिए वहा संतो के अखाड़ों में कोरोना बढ़ता जा रहा है और बात अगर पिछले 24 घंटों में कोरोना मामलो की करे तो हरिद्वार, ऋषिकेश सहित पूरे जनपद में 1175 पॉजिटिव सामने आए है, जिसने सभी के होश उड़ा दिया है।

बात अगर कुंभ में कोरोना की बात करे तो यहां पर निरंजनी अखाड़े की महामंडलेश्वर के चार लोगों की हरिद्वार में कोरोना से मौत हुई है, और संक्रमण इतना बेकाबू होता जा रहा है कि सभी स्वास्थ्य सुविधाओं के हाल बिगड़ गए है, ऐसे में सिर्फ चारो और सिर्फ अफरा तफरी मची हुई है, अस्पतालों में जगह नहीं है, कही दवाइयों और इंजेक्शन की कमी तो दूसरी ओर ऑक्सीजन की किल्ल्त ऐसे समय में कुंभनगरी हरिद्वार में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है।

इस रफ़्तार से बढ़ रहा संक्रमण-
हरिद्वार में कोरोना संक्रमण तेज़ी से अपना पेअर पसारता जा रहा है, ऐसे में यहां पुरे जनपद में बीते 24 घंटे में 1175 मामले सामने आए है, इस संक्रमण के बढ़ने की दर की बात करे तो यहाँ प्रत्येक सवा मिनट में एक कोरोना पॉजिटिव मिल रहा है, यह हाल काफी ख़राब है बावजूद इसके अंतिम कुंभ स्नान को लेकर वैष्णव वैरागी अखाड़े में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है, जोकि काफी घातक स्थिति है।