निगम की कार्रवाई पर कांग्रेस विधायक का पलटवार, कहा – जुर्माना मैं भरूंगा

इंदौर नगर निगम के द्वारा रणजीत हनुमान मंदिर के प्रबंधन पर लगाए गए रुपए 30000 के जुर्माने के मामले में कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने पलटवार कर दिया है।

इंदौर : इंदौर नगर निगम के द्वारा रणजीत हनुमान मंदिर के प्रबंधन पर लगाए गए रुपए 30000 के जुर्माने के मामले में कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने पलटवार कर दिया है। उन्होंने निगम के अधिकारियों से कहा है कि मैं पौधों की नुकसानी को सही कराने को तैयार हूं। कल रणजीत हनुमान भगवान की शोभा यात्रा निकली थी, जिसमें की हजारों की संख्या में रणजीत बाबा के भक्त शामिल हुए थे। पिछले साल कोरोनावायरस का संक्रमण काल चलता होने के कारण यह शोभा यात्रा नहीं निकल सकी थी । जिसके चलते हुए भक्त इस बार शोभायात्रा के निकलने का इंतजार कर रहे थे।

यह एक ऐसा मंदिर है जिस पर हर मंगलवार को हजारों की संख्या में भक्त जाकर अपने जीवन के रण में जीत पाने की कामना करते हैं। नगर निगम के द्वारा कल दोपहर में यह ऐलान कर दिया गया कि रणजीत हनुमान मंदिर की शोभा यात्रा के कारण बहुत सारे पौधों को नुकसान पहुंचा है। इसके आधार पर नगर निगम के द्वारा चालान बनाते हुए मंदिर के प्रबंधन के रूप में प्रशासक अथवा मैनेजर से रुपए 30000 के जुर्माने की राशि जमा करने को कहा गया है।कांग्रेसी विधायक संजय शुक्ला ने नगर निगम के इस कदम पर गहरी आपत्ति ली है। उनका कहना है कि भाजपा के नेताओं के जुलूस – जलसे में जो हरियाली को नुकसान पहुंचता है।

उस समय तो नगर निगम को चालान बनाने और जुर्माना वसूलने की याद नहीं आती है लेकिन बाबा रणजीत हनुमान के भक्तों पर तोहमत लगाते हुए मंदिर में श्रद्धालुओं द्वारा चढ़ाई गई राशि को जुर्माने के रूप में प्राप्त करने की कोशिश की जा रही है। विधायक शुक्ला ने नगर निगम आयुक्त को एक पत्र लिखकर कहा कि नगर निगम के द्वारा रणजीत हनुमान मंदिर का जो चालान बनाया गया है उसे रद्द कर दिया जाए । हरियाली का जो नुकसान हुआ है, उसका ब्यौरा मुझे भेज दिया जाए । मैं अपनी और से निगम के नष्ट हुए पौधों के स्थान पर वही पौधे अच्छी गुणवत्ता वाले लगवाने के लिए तैयार हूं।