मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) आज प्रदेश की धार्मिक राजधानी उज्जैन में उपस्थित थे। इस अवसर पर उन्होंने उज्जैन के नवनिर्मित कॉरिडोर महाकाल लोक के लोकार्पण कार्यक्रम में योगदान के लिए उज्जैन शहर के पत्रकारों को अपना धन्यवाद प्रदान किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि ‘अवंतिका उज्जैन के पत्रकार मित्रों को बहुत-बहुत धन्यवाद देता हूं जिन्होंने लोकार्पण कार्यक्रम को सानंद और अलौकिक रूप से संपन्न कराने में आपने अभूतपूर्व योगदान दिया है।

Also Read-Sarkari Naukri 2022: जेल वार्डर के पदों पर निकली भर्तियां, इस राज्य के 12 वीं पास उम्मीदवार करें आवेदन

उज्जैन के संतो को किया प्रणाम

उज्जैन के नवनिर्मित कॉरिडोर महाकाल लोक के लोकार्पण कार्यक्रम में योगदान के लिए उज्जैन शहर के पत्रकारों को अपना धन्यवाद देने के साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिहं चौहान ने तीर्थ नगरी उज्जैन के सभी संत और महात्माओं का भी अभिवादन किया। संत और महात्माओं के लिए अपनी कृतघ्यता व्यक्त करते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि ‘आज मैं आयोजन समिति को धन्यवाद और संतों को प्रणाम करने आया था। सभी उज्जैनवासियों ने भी मिलकर इस अद्भुत कार्यक्रम को संपन्न कराया।’

Also Read-Vaishali Thakkar चाहती थीं मरने के बाद ‘नेत्रदान’, परिजनों ने की पूरी इच्छा, जिला स्वास्थ्य अधिकारियों को सौंपी अभिनेत्री की खूबसूरत आँखे

सुझावों पर करेंगे गौर

मुख्यमंत्री शिवराज सिहं चौहान ने महाकाल लोक कॉरिडोर के लिए उज्जैन के नागरिकों से कहा कि ‘अब हमारे सामने सुव्यवस्थित संचालन की जिम्मेदारी है। इसके लिए कुछ सुझाव आए हैं, कुछ आएंगे। इन सुझावों के आधार पर श्रद्धा, आस्था और भक्ति का भाव रखते हुए रखते हुए इस पवित्र स्थल के संचालन की व्यवस्था बनाई जाएगी।1 मार्च को महा शिवरात्रि और 22 मार्च को गुड़ी पड़वा, वर्ष प्रतिपदा विक्रम संवत का भी प्रारंभ हुआ था। आज एक अच्छा सुझाव आया कि इस अवसर पर यहां विस्तृत कार्यक्रम की रचना की जाए, हम वह भी करेंगे।’

कहा देश के प्रमुख लोगों को महाकाल का प्रसाद भेजकर दर्शन के लिए करूंगा आमंत्रित

उज्जैन में नवनिर्मित कॉरिडोर ‘महाकाल लोक’ के लोकार्पण से गदगद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ‘आज मैं देश के प्रमुख लोगों को पत्र लिखकर महाकाल महाराज का प्रसाद भेजना प्रारंभ करूंगा कि आप आएं और श्री महाकाल लोक को देखें।’ मुख्यमंत्री के इस कदम से ‘महाकाल लोक’ के दर्शन हेतु देशभर के प्रमुख लोगों की संख्या में बढ़ोतरी की सम्भवना है, हालाकिं बाबा महकाल के लिए अपने सभी भक्त बराबर हैंन उनके लिए कोई भक्त VIP नहीं और नाही कोई भक्त साधारण ही है।