Homeधर्मChhath Puja 2021: आज से छठ पूजा का महापर्व शुरू, ये है...

Chhath Puja 2021: आज से छठ पूजा का महापर्व शुरू, ये है पूजा सामग्री और सूर्य को जल देने का महत्व

Chhath Puja 2021 : देश के कई राज्यों में आज से छठ पूजा का पावन पर्व मनाया जाएगा। साथ ही इस पूजा का विशेष महत्त्व होता है। वहीं छठ का व्रत संतान की प्राप्ति और लंबी आयु की कामना के लिए किया जाता है।

Chhath Puja 2021 : देश के कई राज्यों में आज से छठ पूजा का पावन पर्व मनाया जाएगा। साथ ही इस पूजा का विशेष महत्त्व होता है। वहीं छठ का व्रत संतान की प्राप्ति और लंबी आयु की कामना के लिए किया जाता है। इस पर्व का शुभारंभ कार्तिक मास की चतुर्थी तिथि पर नहाय-खाय से होता है। इस व्रत में सूर्य देवता का पूजन किया जाता है। यह त्यौहार चार दिनों तक चलता है और महिलाएं 36 घंटे निर्जला व्रत रखती हैं।

Chhath Puja 2020, Argh Date, Know Argh Time tithi wise

बता दें इस साल छठ पूजा का त्यौहार 8 नवंबर 2021 यानि आज से है। आज से नहाय-खाय शुरू होगा और इसके अगले दिन 9 नवंबर को खरना और 10 नवंबर को डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। वहीं इसके बाद 11 नवंबर की सुबह उगते सूर्य को अर्घ्य देकर छठ पूजा का समापन किया जाता है। ऐसे में यदि आप छठ पूजा का व्रत रखते हैं, तो आपको पता होना जरूरी है कि पूजन में क्या सामग्री की जरूरत होती है। चलिए जानते है छठ पूजा के लिए कौन-सी सामग्रियों की आवश्यकता हैं।

ये भी पढ़े : Love Horoscope : जानिए आपके प्रेम और वैवाहिक जीवन के लिए कैसा रहेगा दिन

Chhath Puja 2021

ये है सामग्री की लिस्ट –
-व्रत रखने वाली महिलाओं को साड़ी, सूट और पुरुषों को कुर्ता-पजामा पहनना चाहिए।
-पीतल या बांस का बना सूप।
-दीया, चावल, धूपबत्ती और सिंदूर।
-पान और सुपारी
-शकरकंद, शहद, गुड़ और मिठाई।
-चंदन, अगरबत्ती, धूप, कुमकुम और कपूर।
-गेहूं और चावल का आटा।
-बांस की दो टोकरियां। छठ पूजा का प्रसाद रखने के लिए।
-एक ग्लास, लोटा और थाली।
-पांच गन्ने जिसमें पत्ते लगे होना चाहिए।
-हल्दी, मूली और अदरक।
-पानी वाला नारियल।
-शरीफा, केला, नाशपाती और नींबू

As Chhath Puja 2021 approaches, Bihar, Jharkhand and Delhi issue guidelines for celebrations - The Financial Express

ये है सूर्य को जल देने का महत्व –
यह तो सभी जानते है कि सूर्य को पृथ्वी पर जीवन का आधार माना जाता है। सूर्य को जल देने से कई तरह के फायदे भी होते है, जैसे सेहत, संबंधी फायदे और जीवन में जल और सूर्य की महत्ता को देखते हुए छठ पर्व पर सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। वही इसके अलावा सूर्य को जल देने का ज्योतिष महत्व भी माना जाता है। भगवान सूर्य नारायण की कृपा से व्यक्ति को तेज व मान-सम्मान की प्राप्ति होती है।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular