हनुमान जी के इस चमत्कारी मंत्र का रोज करें जाप, देखते ही देखते बन जाएंगे करोड़पति

आज हम आपको ऐसे ही एक चमत्कारी मंत्र के बारे में बता रहे हैं जिसका रोजाना स्मरण करने से हनुमान जी जल्द ही हमसे प्रसन्न हो जाते हैं।

0
hanuman ji

शास्त्रों में हनुमान जी को कई नामों से नवाजा गया हैं। साथ ही माना भी जाता है कि हनुमान को खुश करने के लिए हम रोजाना कुछ मंत्रों का उच्चारण करें तो हनुमान जी की कृपा हमेशा हम पर बनी रहती हैं। और जिस पर भी हनुमान जी की कृपा हो उन्हें भला किसी भी बूरी शक्ति से डरने कि कोई जरुरत नहीं होती हैं। आज हम आपको ऐसे ही एक चमत्कारी मंत्र के बारे में बता रहे हैं जिसका रोजाना स्मरण करने से हनुमान जी जल्द ही हमसे प्रसन्न हो जाते हैं।

मनोजवं मारुततुल्यवेगं जितेन्द्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठम्।
वातात्मजं वानरयूथमुख्यं श्रीरामदूतम् शरणं प्रपद्ये।।

जिसका मतलब होता है जिनकी मन के समान गति और वायु के समान वेग है, जो परम जितेन्दिय और बुद्धिमानों में श्रेष्ठ हैं, उन पवनपुत्र वानरों में प्रमुख श्रीरामदूत की मैं शरण लेता हूं। कलियुग में हनुमानजी की भक्ति से बढ़कर किसी अन्य की भक्ति में शक्ति नहीं है। रामरक्षा स्तोत्र से लिए गए हनुमानजी के प्रति शरणागत होने के लिए इस श्लोक या मंत्र का जप करने से हनुमानजी तुरंत ही साधक की याचना सुन लेते हैं और वे उनको अपनी शरण में ले लेते हैं।