moreकरियर

लाॅकडाउन के बाद इन नियमों के साथ खुल सकते हैं स्कूल

नई दिल्ली। लाॅकडाउन के कारण इन दिनों हर किसी को नुकसान उठाना पड़ रहा है ऐसे में बच्चे कहा अछूते हैं। बच्चों की भी पढ़ाई पर इसका खासा असर देखने को मिल रहा है। लाॅकडाउन के  चौथे  चरण में बताया जा रहा है कि कई क्षेत्रों में छूट बढ़ा सकते हैं। ऐसे में ग्रीन जोन में शिक्षा को लेकर भी छूट दी जा सकती है। लेकिन कोरोना काल में स्कुलों को खुलवा दिया जाएगा तो बच्चों में इस संक्रमण का खतरा भी बढ़ सकता है।

school-

ऐसे में लाॅकडाउन के बाद स्कुलों में भी नियमों में बदलाव होने की संभावना है। जिसमें क्लासेज में छात्रों के बैठने का तरीका यानी सीटिंग अरेंजमेंट और पढ़ाई के समय में बदलाव हो सकता है। इसके अलावा एक ही कक्षा को कई सेक्शन में भी तोड़ा जा सकता है ताकि सोशल डिस्टेंसिंग को मेनटेन किया जा सकता।

studens-

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने दी  जानकारी 

इन बदलावों को लेकर जानकारी सूचना केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने दी। दरअसल गुरुवार को रमेश पोखरियाल ने टीचर्स के साथ एक लाइव सेशन कर बैठक की थी जिस दौरान इस बात पर भी चर्चा की गई। वहीं स्कुलों की बसों में भी सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने पर पूरा ध्यान दिया जाएगा।

students-

सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए केवल 30 फीसदी होंगे एक कक्षा में 

सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए बताया जा हा है कि एक कक्षा में पहले की तुलना में केवल 30 फीसदी छात्रों को ही एक क्लास में पढ़ाया जा सकेगा। हालांकि इस पर एनसीईआरटी के साथ मिलकर काम किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि एनसीईआरटी स्कूलों को खोलने के लिए नए सिस्टम पर काम कर रही है जबकि यूजीसी उच्च शिक्षा संस्थानों में इसे लागू करने पर काम कर रहा है।