Homeइंदौर न्यूज़राजस्व वसूली को लेकर प्रशासन सख्त, 3 का वेतन रोका

राजस्व वसूली को लेकर प्रशासन सख्त, 3 का वेतन रोका

इंदौर (Indore News) : आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल के निर्देश पर अपर आयुक्त राजस्व श्रीमती भव्या मित्तल द्वारा सीटी बस आफिस में राजस्व वसुली की समीक्षा बैठक ली गई। बैठक में उपायुक्त श्रीमती लता अग्रवाल, सहायक आयुक्त श्रीमती सुषमा धाकड, श्रीमती परागी, समस्त सहायक राजस्व अधिकारी, समस्त बिल कलेक्टर व अन्य उपस्थित थे।

अपर आयुक्त श्रीमती भव्या मित्तल द्वारा संपतिकर, जलकर, कचरा प्रबंधन शुल्क वसुली के संबंध में झोनवार व वार्डवार समीक्षा की गई। इसके साथ ही विभिन्न वार्डो में हुए जीआई सर्वे डाटा के अनुसार वसुली करने के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। अपर आयुक्त श्रीमती मित्तल द्वारा समस्त सहायक राजस्व अधिकारी व बिल कलेक्टर को अपने-अपने आवंटि क्षेत्रो से दिसम्बर 2019-20 में की गई संपतिकर, जलकर व कचरा प्रबंधन शुल्क की राशि की वसुली से अधिक बकाया राजस्व वसुली करने के संबंध में निर्देश दिये गये।

इसके साथ अपर आयुत द्वारा उपायुक्त श्रीमी लता अग्रवाल को आगामी 3 दिवस में झोन-वार्ड के ऐसे बकायादार जिनकी संपति को निगम द्वारा जप्ती/कुर्की की गई है, ऐसी संपतियों की नीलामी संबंधित जानकारी सहायक राजस्व अधिकारी से प्राप्त कर ऐसी संपतियों की नीलामी सूचना प्रकाशित कराने के संबंध में निर्देश दिये गये।

अपर आयुक्त श्रीमती मित्तल ने उपस्थित सहायक राजस्व अधिकारी व बिल कलेक्टर को कम राजस्व वसुली करने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए, दिसम्बर 2021 में कचरा प्रबंधन शुल्क की राशि शत-प्रतिशत वसुली करने के निर्देश दिये गये। अपर आयुक्त द्वारा कचरा प्रबंधन शुल्क की राशि वसुली कार्य में बिल कलेक्टर के साथ ही क्षेत्रीय एनजीओ की टीम को भी डोर टू डोर सहयोग करने के संबंध में निर्देश दिये गये। राजस्व वसुली समीक्षा के दौरान संपतिकर, जलकर व कचरा प्रबंधन की बकाया राशि लक्ष्यानुसार वसुली करने के निर्देश दिये गये तथा जिन-जिन वार्डो में जीआई सर्वे हुआ है ऐसे वार्डो मे अधिक से अधिक वसुली करने एवं नये संपतिकर के खाते खोलने के भी निर्देश दिये गये।

राजस्व वसुली की समीक्षा बैठक के दौरान वार्ड 46 बिल कलेक्टर वीरेन्द्र शर्मा द्वारा बिना सक्षम अनुमति के बैठक में उपस्थित ना होकर अवकाश पर जाने से अपर आयुक्त द्वारा बिल कलेक्टर वीरेन्द्र शर्मा का 1 दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये गये। इसके साथ ही राजस्व वसुली समीक्षा के दौरान बिल कलेक्टर वार्ड 72 मोहन यादव, बिल कलेक्टर वार्ड 65 अखिल शारडा, बिल कलेक्टर वार्ड 26 पवन पिपलोदिया द्वारा अपने आंवटित क्षेत्र में कम राजस्व वसुली करने पर वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश दिये गये। इसके साथ ही ऐसे बिल कलेक्टर जिनके द्वारा लक्ष्यानुसार वसुली नही कि जा रही है उनका स्थानांतरण रिमूव्हल विभाग में करने के भी निर्देश दिये गये। साथ ही अपर आयुक्त द्वारा विभिन्न झोन के 31 बिल कलेक्टर द्वारा संपतिकर, जलकर व कचरा पं्रबंधन शुल्क की राशि कम वसुली करने पर अंतिम चेतावनी पत्र जारी करते हुए, लक्ष्यानुसार वसुली नही होने पर वेतन वृद्धि व स्थानांतरण जैसी कडी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।

अपर आयुक्त श्रीमती मित्तल द्वारा समस्त सहायक राजस्व अधिकारी को निर्देशित कि वह अपने क्षेत्र में निवासरत गणमान्य नागरिको से कचरा प्रबंधन शुल्क की राशि जमा करने के लिये संपर्क करे तथा वसुली उपरांत गणमान्य नागरिको को स्वच्छता का बेंच लगाकर जानकारी सोशल मिडिया में शेयर करे, ताकि शहर के अन्य नागरिक भी कचरा प्रबंधन का शुल्क जमा कर शहर की स्वच्छता में सहयोग करे।

बैठक के दौरान अपर आयुक्त द्वारा नवम्बर माह में संपतिकर में सर्वोधिक वसुली करने पर झोन 14 के सहायक राजस्व अधिकारी श्री सुरेन्द्र खरे को रिवॉल्विंग ट्रॉफी दी गई, विदित हो कि माह अक्टुबर में भी रिवॉल्विंग ट्रॉफी श्री खरे के पास ही है। इसके साथ ही कचरा प्रबंधन शुल्क में सर्वोधिक रसीदे काटने पर श्री रोहित चौधरी, श्री संतोष वर्मा, श्री अजय पाठक, को सम्मानित किया गया। साथ ही संपतिकर में सर्वाधिक वसुली करने पर श्री घनश्याम सिंह चौहान, श्री देवेन्द्र खटके, श्री चेतन जोशी, श्री प्रेमनारायण दुबे व श्री पवन उपाध्याय को भी सम्मानित किया गया।

 

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular