इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में आज से प्रवासी भारतीय सम्मेलन शुरू हो चूका है। वर्ष 2019 के बाद कोरोना महामारी के चलते पहली बार सम्मेलन भौतिक रूप से हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार, 9 जनवरी को 17वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का शुभारंभ करेंगे, जबकि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू मंगलवार, 10 जनवरी को इसका समापन करेंगी। राष्ट्रपति समापन सत्र में प्रवासी भारतीयों को सम्मानित भी करेंगी।

प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए दुनियाभर से आए एनआरआई पहुंचने लगे हैं। देश के युवा और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने युवा प्रवासियों का स्वागत करते हुए कहा कि पासपोर्ट का रंग कोई भी हो हमारा खून एक ही है। उन्होंने युवा प्रवासियों को सराफा चौपाटी जाने का आग्रह भी किया। अनुराग ठाकुर ने प्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए कहा कि आप यहां आए हैं तो सराफा जरूर जाएं और वहां व्यंजनों का आनंद लें।

Also Read – मुसीबत में फसे NRI की मदद कर इंदौर के सिद्धार्थ ने बढ़ाया शहर का मान

पहले दिन केन्द्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर (Sports Minister Anurag Singh Thakur) की अध्यक्षता में प्लेनरी सेशन में नवाचारों और नई प्रौद्योगिकी में प्रवासी युवाओं की भूमिका पर चर्चा होगी। इसके बाद प्रदेश की औद्योगिक क्षमताओं से संबंधित 3 सेक्टर्स, टेक्सटाईल एण्ड गारमेंट्स वीविंग द ग्रोथ स्टोरी ऑफ एम.पी., सूचना प्रौद्योगिकी और संबद्ध सेक्टर में मध्यप्रदेश में होने वाले परिवर्तनों की कहानियां, हेल्थ केयर एण्ड फार्मास्यूटिकल्स इन्वेस्टमेंट रिशेपिंग द ग्लोबल हेल्थ वेल्यू चेन पर सत्र होंगे।

पहले दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जब भी कोई इनोवेटिव आइडिया (innovative idea) आए तो मामा को याद कर लेना। हम आपका साथ देने में कसर नहीं छोड़ेंगे। इसके बाद सीएम ने कहा, है नहीं है हाथ केवल हाथ मलने के लिए, तू इन्हें मुठी बना दुनिया बदलने के लिए।