आधार कार्ड भारत में यूज होने वाला सबसे कॉमन आईडी प्रूफ है. आधार कार्ड के जरिए आप सरकारी योजनाओं का लाभ आसानी से उठा सकते हैं. इसके अलावा बैंक अकाउंट खुलवाने , स्कूल कॉलेज के एडमिशन , प्रॉपर्टी खरीदने, ड्राइविंग लाइसेंस  पैन कार्ड  बनवाने, ज्वेलरी खरीदने आदि कई जरूरी काम के लिए आधार कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है. भारत सरकार ने आधार कार्ड योजना की शुरुआत भारत मे पहली बार साल 2009 में की थी. इसके बाद से लगातार देश में इसका इस्तेमाल तेजी से बढ़ता चला गया है. आधार कार्ड यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी UIDAI नाम की संस्था जारी करती है.

आधार के बढ़ते यूज के साथ ही इससे जुड़ी फ्रॉड की घटनाएं भी बहुत तेजी से बढ़ने लगी हैं. आजकल बहुत से लोगों का आधार डेटा चुराकर उनके खाते को खाली कर दिया जा रहा है. ऐसे में इस समस्या को दूर करने के लिए UIDAI ने आधार को लॉक और अनलॉक करने की सुविधा शुरू कर दी है.

डेटा प्राइवेसी को मेंटेन करना है प्राथमिकता

साइबर अपराध की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए यूआईडीएआई ने आधार कार्ड को लॉक और अनलॉक करने की सुविधा शुरू कर दी है. आधार कार्ड के बायोमेट्रिक को लॉक करके आप इसके गलत इस्तेमाल पर रोक लगा सकते हैं. ऐसा करने से आप डेटा सुरक्षित रहता है. आधार कार्ड लॉक करने के बाद आप और बाकी कोई दूसरा व्यक्ति भी आपके आधार के डेटा को एक्सेस नहीं कर सकती हैं. अगर आप डेटा को दोबारा एक्सेस करना चाहते हैं तो आपको अपने आधार कार्ड को अनलॉक करना पड़ेगा. इसके बाद ही आप इसे दोबारा यूज कर सकते हैं. आधार यूजर्स अपनी जरूरत के अनुसार आधार डेटा को लॉक और अनलॉक कर सकते हैं.

आधार यूजर्स इसे लॉक और अनलॉक करने के तरीके के बारे में जानें-
1. इसके लिए आप UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट www.uidai.gov.in पर विजिट करें.
2. आगे आप My Aadhaar ऑप्शन को सेलेक्ट करें. इसके बाद Aadhaar Services को चुनें.
3. आगे आप Lock/Unlock Biometrics को सेलेक्ट करें.
4. आगे आपको 12 अंक का आधार नंबर दर्ज करें. फिर अपना कैप्चा कोड दर्ज करें.
5. फिर Send OTP पर क्लिक करें.
6. इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा जिसे यहां दर्ज करें.
7. इसके बाद आपको बायोमेट्रिक डेटा को लॉक/अनलॉक करने का विकल्प दिखेगा. आपको जो लॉक या अनलॉक जो ऑप्शन का चुनाव करना है उसे तुरंत चुनें.
8. इसके बाद आपका आधार बायोमेट्रिक डेटा लॉक या अनलॉक हो जाएगा.