पिछले कई महीनो से केंद्र कर्मचारियों पर केंद्र सरकार मेहरबान नज़र आ रही है। महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में 4 फीसदी की बढ़ोतरी के बाद सरकार जहां उनके कई और भत्ते में बढ़ोतरी पर विचार कर रही है वहीं 8वें वेतन आयोग की चर्चा जोरों पर है। आठवें वेतन आयोग के लागू होने से कर्मचारियों की सैलरी ढ़ाई गुना से ज्यादा बढ़ सकती है। इससे एक करोड़ से ज्यादा केद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स बड़ा फायदा मिलेगा।

एकबार फिर 8वें वेतन आयोग को लेकर चर्चा तेज हो गई है, सबकुछ ठीक रहा तो अगले साल 2024 में 8वां वेतन आयोग को प्लान किया जा सकता है। अगर ऐसा होता है तो सरकारी कर्मचरियो की मौज को कोई नहीं रोक सकता उनकी सैलरी में जबरदस्त बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। हालांकि, अभी तक सरकार की तरफ से आधिकारिक तौर पर कुछ भी नहीं कहा गया है।

खबरों के माने तो 8वें वेतन आयोग के तहत कर्मचारी संघ का प्रस्ताव मंजूर होने पर सरकारी कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये से बढ़कर 26,000 रुपये हो जाएगा। वहीं फिटमेंट फैक्टर 3.68 गुना तक बढ़ जाएगी।

2026 में लागू हो सकता है 8 वा वेतन आयोग

कर्मचारियों के लिए वेतन आयोग हर दस साल में केवल एक बार लागू किया जाता है। 5वें, 6वें और 7वें वेतन आयोग के लागू किये जाने में यही पैटर्न नजर आया है। एक अनुमान के मुताबिक साल 2024 में 8वें वेतन आयोग की स्थापना की जाएगी और जिसकी सिफारिशों को 2026 में लागू हो सकती है।

इसके साथ ही यह भी खबरें आ रही है कि 7वें वेतन आयोग के बाद इसकी परंपरा खत्म हो जाएगी। यानी 7वें वेतन आयोग के बाद अब अगला कोई नया वेतन आयोग नहीं आएगा। इसकी बजाए सरकार ऑटोमैटिक इंक्रीमेंट सिस्टम लागू कर सकती है। इसमें सरकारी कर्मचारियों की वेतन वृद्धि अपने आप हो जाया करेगी। यह प्राइवेट नौकरियों में इंक्रीमेंट जैसा हो सकता है। इसमें 50 फीसदी से ज्यादा डीए होने पर सैलरी में ऑटोमैटिक रिविजन हो जाएगी।