7th pay Commission: 2 लाख नहीं कर्मचारियों को इतने DA का भुगतान करेगी सरकार, जल्द होगी घोषणा

लंबे समय से केंद्रीय कर्मचारी अपने बकाया डीए की मांग कर रहे हैं. कहा जा रहा है कि सरकार जल्द ही इसका भुगतान कर सकती है.

7th Pay Commission: कर्मचारियों (Central Employees) द्वारा लंबे समय से सरकार से बकाया डीए (Due DA) की मांग की जा रही है. पिछले दिनों खबर आई थी कि जल्द ही सरकार लाखों कर्मचारियों को बकाया डीए का भुगतान करेगी. वही अब खबर है कि अगले महीने इसका भुगतान किया जा सकता है.

कर्मचारी जनवरी 2020 से जून 2021 तक के बकाया डीए (Due DA) की मांग कर रहे हैं. जानकारी के मुताबिक सरकार कर्मचारियों के खाते में 1.50 लाख रुपए डालने का प्लान बना रही है. पहले कहा जा रहा था कि 2 लाख तक का बकाया DA Arrears दिया जाएगा. साथ ही डीए में बढ़ोतरी की बात भी कही जा रही थी.

Must Read- बिना गारंटी सरकार दे रही है Loan, समय से चुकाने पर मिलेगा 5 गुना ज्यादा पैसा!

कोरोना की वजह से केंद्रीय कर्मचारियों (Central Employees) का 18 महीने का डीए लंबे समय से रुका हुआ है. कर्मचारी इस उम्मीद में है कि सरकार जल्द ही उनकी बकाया राशि का भुगतान कर देगी. सरकार की ओर से डीए के भुगतान और इसके बढ़ाए जाने को लेकर कोई भी ऑफिशियल अनाउंसमेंट नहीं किया गया है. लेकिन यह कहा जा रहा है कि सरकार कर्मचारियों के खाते में एक बार में 1.5 लाख रुपए डाल सकती है. DA का पैसा कर्मचारियों को उनकी सैलरी बैंड के अनुसार दिया जाएगा.

इस मामले में वित्त मंत्रालय के डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग और विभाग के अधिकारियों की एक बैठक होना है जिसमें कर्मचारियों के डीए एरियर के पेमेंट पर चर्चा की जा सकती है. बैठक में डीए बढ़ोतरी (DA Hike) पर भी फैसला लिया जा सकता है. फिलहाल केंद्रीय कर्मचारियों को 34 फीसदी की दर से दिए भुगतान किया जा रहा है. लेकिन बढ़ती महंगाई को देखते हुए जुलाई में सरकार की ओर से 4 से 5 फीसदी का इजाफा डीए में किया जा सकता है.

अगर महंगाई को देखते हुए सरकार द्वारा दिए बढ़ाया जाता है तो इससे लगभग 50 लाख कर्मचारी और 65 लाख पेंशनर को फायदा होगा. बता दें कि कर्मचारियों को दिया जाने वाला DA उनकी सैलरी का सहायता स्ट्रक्चर होता है. महंगाई को देखते हुए सरकार इसमें इजाफा करती रहती है ताकि कर्मचारियों का जीवन स्तर प्रभावित ना हो. पिछली बार मार्च महीने में डीए में 3 फीसदी इजाफा हुआ था.