Homeदेशमध्य प्रदेशमालवा-निमाड़ के 33.58 लाख उपभोक्ताओं को मिली 1 रूपए यूनिट की दर...

मालवा-निमाड़ के 33.58 लाख उपभोक्ताओं को मिली 1 रूपए यूनिट की दर से बिजली

राज्य शासन की गृह ज्योति योजना(house Jyoti Yojna) से एक माह के दौरान 33.58 लाख उपभोक्ता लाभान्वित हुए है।

इंदौर। राज्य शासन की गृह ज्योति योजना(house Jyoti Yojna) से एक माह के दौरान 33.58 लाख उपभोक्ता लाभान्वित हुए है। इन्हें प्रथम 100 यूनिट तक बिजली 1 रूपए यूनिट की दर से प्रदान की गई है। इससे शासन की ओर से उपभोक्ताओं को लगभग 135 करोड़ रूपए की सब्सिडी प्रदान की गई है।

must read: अब इन प्राइवेट अस्पतालों में भी होगा कोरोना का नि:शुल्क इलाज, पढ़े यहां

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार गृह ज्योति यानि सस्ती बिजली योजना का नियमानुसार प्रभावी क्रियान्वयन कर लाखों उपभोक्ताओं को लाभान्वित किया जा रहा है। पिछले तीस दिनों के दौरान इस योजना से 33 लाख 58 हजार उपभोक्ता लाभान्वित हुए है। प्रत्येक उपभोक्ता को 300 से लेकर 504 रूपए की सब्सिडी प्रदान दी गई है। कंपनी क्षेत्र के सभी उपभोक्ताओं को 135 करोड़ रूपए के लगभग सब्सिडी मुहैया कराई गई है। इन 33.58 लाख उपभोक्ताओं के एक माह के दौरान बिल 100 से लेकर 400 रूपए तक आए है। श्री तोमर ने बताया कि 15 जिलों में सबसे ज्यादा इंदौर जिले में लगभग साढ़े चार लाख उपभोक्ताओं को लाभ दिया गया है। धार, देवास, बड़वानी, खरगोन, मंदसौर, रतलाम, उज्जैन आदि प्रत्येक जिले में भी दो लाख से ज्यादा उपभोक्ता लाभान्वित हुए है। अन्य जिले में भी एक लाख से पौने दो लाख उपभोक्ताओं को पात्रतानुसार एक रूपए यूनिट की दर से 100 यूनिट तक बिजली प्रदान की गई है। प्रबंध निदेशक श्री तोमर ने बताया कि योजना के क्रियान्वयन में दैनिक 5 यूनिट खपत की पात्रता आती है, तीस दिन में 150 यूनिट से ज्यादा खपत आने पर माह विशेष के लिए पात्रता समाप्त हो जाती है।

बिल समय पर भरने की अपील

प्रबंध निदेशक श्री तोमर ने उपभोक्ताओं से बिजली बिल समय पर जमा करने की अपील की है । उन्होंने कहा कि शासन के निर्देशानुसार सभी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है, योजना के अनुरूप तैयार बिल की राशि समय पर जमा कर उपभोक्ता बिजली कंपनी को सहयोग प्रदान करे।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular