आज है मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा तिथि, रखें इन बातों का ध्यान

आज शनिवार, मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा तिथि है। आज रोहिणी नक्षत्र, "आनन्द" नाम संवत् 2078 है।

आज शनिवार, मार्गशीर्ष कृष्ण प्रतिपदा तिथि है। आज रोहिणी नक्षत्र, “आनन्द” नाम संवत् 2078 है।
(उक्त जानकारी उज्जैन के पञ्चाङ्गों के अनुसार है)

-आज दिनभर सर्वार्थ अमृत सिद्धि योग है।
-शिव पुराण पार्वती खण्ड में उल्लेख है कि मार्गशीर्ष कृष्ण द्वितीया को भगवान शिवजी और पार्वती जी का विवाह हुआ था। उस दिन चन्द्र, बुध एक राशि में थे। रोहिणी नक्षत्र और सोमवार था।
-शिव जी का सती जी के साथ प्रथम विवाह चैत्र शुक्ल त्रयोदशी तिथि को हुआ था। उस दिन रविवार और पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र था। इसका शिव पुराण की रुद्र संहिता अध्याय 18 में उल्लेख है।
-इससे यह स्पष्ट होता है कि महाशिवरात्रि पर शिव जी के दोनों विवाह नहीं हुए थे।
-मार्गशीर्ष मास के व्रत – पर्व-

ये भी पढ़े – Rashifal: जानिए कैसा रहेगा आज का आपका दिन, पढ़िए राशिफल

-23 नवम्बर मङ्गलवार को अङ्गगारक चतुर्थी व्रत है।
-25 नवम्बर गुरुवार को गुरु पुष्य योग है।
-27 नवम्बर शनिवार को श्रीकाल भैरवाष्टमी भैरव समुत्पत्ति दिवस है।
-4 दिसम्बर शनिवार को शनैश्चरी अमावस्या है।
-8 दिसम्बर बुधवार को विवाह पञ्चमी है। इस दिन राम – जानकी विवाह एवं कृष्ण रुक्मिणि विवाह (गुजरात – माधवपुर) हुआ था।
-इसी दिन भोगवती (नाग लोक, पाताल) में नाग दिवाली का उत्सव होता है।
-9 दिसम्बर गुरुवार को चम्पा षष्टि, स्कन्द षष्ठी है। इस दिन भगवान कार्तिकेय का अवतार हुआ था।
-10 दिसम्बर शुक्रवार को मित्र सप्तमी, नरसी मेहता जयन्ती है।
-14 दिसम्बर मङ्गलवार को गीता जयन्ती है।
-17 दिसम्बर शुक्रवार को पिशाच मोचन श्राद्ध है।
-17 दिसबर शुक्रवार मार्गशीर्ष शुक्ल चतुर्दशी को गोपियों का चीरहरण दिवस।
-18 दिसम्बर शनिवार को भगवान दत्त प्रकटोत्सव, देवी षोडषी जयन्ती, मॉं अन्नपूर्णा प्रकटोत्सव दिवस है।

विजय अड़ीचवाल