धर्मव्रत / त्यौहार

खोदरा महादेव के इस मंदिर में आज भी आते हैं अश्वत्थामा

इंदौर। महादेव के कई प्राचीन मंदिरों के बारे में आपने सुना होगा लेकिन आज हम जिस अद्भुत मंदिर के बारे में बात कर रहे हैैं। इसके बारे में सुनते ही आप यहां जाने की इच्छा जरुर रखेंगे। जी हां महादेव का यह मंदिर खोदरा महादेव के नाम से प्रसिद्ध है। यह मंदिर मध्य प्रदेश के इन्दौर के पास महू से करीब 12 किलोमीटर दूर स्थित चोरल से करीब 10 किलोमीटर दूर विंध्यांचल की पहाड़ियों पर स्थित है।

बताया जाता है कि यहां शिवलिंग के अतिरिक्त नंदी भी विराजमान हैं। दरअसल इस पहाड़ी के नीचे एक गांव है जिसका नाम खोदरा है। जिस कारण इस स्थान का नाम खोदरा महादेव के नाम से जाना जाता है। बताया जाता है कि इस स्थान को सात चिरंजीवी पुरुषों में से एक द्रोण पुत्र अश्वत्थामा की तपस्थली के रूप में पूजा जाता है। मान्यता है कि आज भी अश्वत्थामा इस स्थान पर तप करने आते हैं।

लोगों का कहना है कि इस पहाड़ी में शिवलिंग के पास एक गुफा और है जिसमें नागमणि सर्प भी रहता है। हालांकि इस क्षेत्र के कई गांव हैं। हालांकि यहां लोग ना के बराबर ही रहते हैं। बताया जाता है कि हिमालय पर रहने वाले साधु-तपस्वी इस स्थान पर तप के लिए आते हैं। वे यहां के वृक्षों पर लगने वाले फलों और पत्तियों को खाकर जीवित रहते हैं।

अश्चर्य की बात यह है कि इस गुफा का रास्ता बहुत ही कठिन है। गुफा के बाहर ही एक झरना भी है जिसमें बारह महीने पानी बहता रहता है। शिवरात्रि को यहां मेला भी लगता है और भंडारे का आयोजन होता है। जिसमें कई लोग दूर दूर से आते हैं। दुर्गम रास्ते के बावजूद आज तक पहाड़ी से उतरते या चढ़ते वक्त किसी श्रद्धालु की मौत की कोई नहीं आई है। लोग इसे महादेव का चमत्कार बताते है।

Related posts
धर्मव्रत / त्यौहार

देवशयनी एकादशी वाले दिन लगा चौमासा, जानें व्रत मुहूर्त का समय

आज देवशयनी एकादशी है। आज से भगवान…
Read more
धर्मराशिफल / ज्योतिष शास्त्र

सावन से पहले महादेव ने 121 साल बाद इन राशियों को किया कालसर्प दोष से मुक्त, मिलेगी अचानक खुशियां

सावन से पहले 121 साल बाद महादेव ने अपने…
Read more
धर्मराशिफल / ज्योतिष शास्त्र

राशिफल: मीन राशि वालों के लिए लकी रहेगा गुरुवार

मेष – वाणी पर संयम बरतें।…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group