विपिन नीमा

इंदौर। सात रास्तों को जोड़ने वाले शहर के सबसे बडा चौराहा महू नाका पर फ्लायओवर ब्रिज बनाने का प्लान चल रहा है , लेकिन महूनाका चौराहे पर सड़क की चौड़ाई को लेकर तकनीकी परेशानी है। इस बात को ध्यान में रखते हुए पहले चरण के चार फ्लाई ओवर में तय महू नाका को स्थगित रखते हुए फूटी कोठी चौराहे वाले फ्लाई ओवर के निर्माण को लेकर काम शुरू किया है। महूनाका फ्लायओवर ब्रिज लालबाग की तरफ से होते हुए एमओजी लाइन की तरफ जाएगा ।

Read More : Bharat Jodo Yatra Live: भारत जोड़ो यात्रा का छठा दिन, विधायक संजय शुक्ला के फार्म हाउस पर राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस

लालबाग से महू नाक होते हुए गंगवाल ब स्टैंड तक के हिस्से वाली सड़क की चौड़ाई कम होने के कारण आईडीए ने इस पर काम शुरू नही किया है। मास्टर प्लान के मुताबिक सड़क की चौड़ाई 45 मीटर होना चाहिए, लेकिन लालबाग के हिस्से वाली सड़क की चौड़ाई वर्तमान में 30 मीटर ही है। जब तक सड़क की चौड़ाई 45 मीटर नही होगी तब तक फ्लायओवर ब्रिज बनना मुश्किल है।

मास्टर प्लान में 30 से 45 मी संशोधन करने हेतु बोर्ड ने TNCP को भेजा पत्र

जानकारी के मुताबिक महूनाका पर फ्लायओवर ब्रिज के लिए सड़क चौड़ीकरण का मामला कोई नया नही है।बताया गया है कि मास्टर प्लान में 30 मी से 45 मी संशोधन करने बाबद नगर तथा ग्राम निवेश (TNCP) को पत्र लिखा था,जो नये मास्टर प्लान में हो सकेगा। संशोधन के बाद ही 6 लेन ब्रिज बनने का रास्ता साफ होगा,परतु इसका बनना तय है ,कुछ समय लग सकता है। यह बहुत महत्वपूर्ण है क्योकि इस चौराहे पर छह रास्ते मिलते है। अभी TNCP की तरफ से कोई जवाब नही आया। इसलिए इस फ्लायओवर का काम आगे नही बढ़ पाया है।

30 मीटर चौड़ी वाली सड़क पर फ्लायओवर ब्रिज बनना मुश्किल

नियम के मुताबिक फ्लायओवर ब्रिज के लिए काम से कम 45 मीटर सड़क होना चाहिए, क्योकि ब्रिज के साथ सर्विस रोड भी बनाना पड़ती है। लालबाग की तरफ वाली सड़क की चौड़ाई इतनी नही है कि ब्रिज ओर सर्विस रोड बन जाये। वर्तमान में 30 मीटर सड़क पर ट्रैफिक संचालित हो रहा है।

ब्रिज के लिए रास्ता साफ होने पर ही IDA टेंडर जारी कर सकते है

सड़क चौड़ीकरण में उलझा महू नाका फ्लायओवर ब्रिज का काम शुरू होने में थोड़ा समय लगेगा , क्योकि जब तक सड़क चौड़ीकरण का मामला नही सुलझेगा तब तक न तो टेंडर जारी हो सकते है और न ही डीपीआर बन सकती है।

ब्रिज के लिए विधायक मालिनी गौड लम्बे समय प्रयासरत थी

पूर्व महापौर तथा विधायक मालिनी गौड क्षेत्र क्रमांक चार में आने वाले महूनाका पर फ्लाय ओव्हर ब्रिज के लिए लम्बे समय से प्रयास कर रह थी। उन्हीं के प्रयास की बदौलत महूनाका पर फ्लायओवर ब्रिज की मंजूरी मिली है, निर्माण शुरू होने से पहले ही एक बड़ी अड़चन आ गई है। सड़क की चौड़ाई कम होने की वजह से फिलहाल फ्लाय ओव्हर ब्रिज को होल्ड पर रख दिया गया है।

Read More : 20 साल के युवा आंत्रप्रेन्योर अर्जुन देशपांडे भारत की फार्मास्युटिकल इंडस्ट्री में ला रहे हैं बदलाव

45 मीटर सड़क चौड़ी होने पर ही ब्रिज का काम शुरू हो पाएगा। पिछले दिनों भंवरकुआ ब्रिज के भूमिपूजन समारोह के दौरान भी विधायक मालिनी गौड ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से ब्रिज के निर्माण के संदंर्भ में चर्चा की थी। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को तकनीकी परेशानी से अवगत भी करवा दिया है। नए मास्टर प्लान आने के बाद ही कार्यवाही आगे बढ़ पाएगी।