मध्य प्रदेश

मंडी में ना लगे भीड़, व्यापारी फोन या व्हाट्सएप से करें सौदा: मनीष सिंह

इंदौर: कलेक्टर मनीष सिंह ने लक्ष्मीबाई नगर मंडी का निरीक्षण किया तथा 22 मई से शुरू की जा रही प्याज की नीलामी के संबंध में बैठक ली। बैठक में मप्र राज्य कृषि विपणन बोर्ड इंदोर से उपसंचालक महेंद्र दीक्षित, मंडी सचिव एम एस मुनिया, व्यापारी संघ के अध्यक्ष नारायण गर्ग आदि उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर सिंह ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते मंडी में भी वे समस्त उपाय किए जाने हैं जो कोरोना संक्रमण को फैलने से रोके। कलेक्टर सिंह ने बताया कि, जिला प्रशासन का प्रयास है कि गांव के किसानों का शहर में एक्सपोजर ना हो जिससे कि गांव तक कोरोना का संक्रमण ना पहुंचे। यह एहतियात के तौर पर उठाए जा रहे उन कदमों में से एक है जिनसे करोना के दुष्प्रभाव को गांव तक पहुंचने से रोका जा सके।

उन्होंने बैठक में निर्देश दिए कि हर किसान स्वयं मंडी तक ना आए ऐसी व्यवस्था की जा रही है। किसानों का माल छोटे-छोटे वाहनों की जगह माल वाहक या बड़े ट्रकों से आएगा। इस प्रक्रिया से यह सुनिश्चित किया जा सकेगा की कहीं भी अनावश्यक भीड़ एकत्रित ना हो। बड़े मालवाहकों से कई किसानों की सामग्री क्लब करके अर्थात एकत्रित कर मंडी भेजी जाएगी। उन्होंने बताया कि, एक बड़े वाहन से करीब 200 बोरियां मंडी पहुंचेगी। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए कि छावनी एवं लक्ष्मीबाई मंडी के अतिरिक्त इंदौर शहर में किसी भी अन्य स्थान पर कृषि उपज का क्रय-विक्रय प्रतिबंधित रहेगा।

उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने तथा अनावश्यक भीड़ की स्थिति उत्पन्न ना होने देने के उद्देश्य से मंडी व्यापारियों को फोन तथा व्हाट्सएप के माध्यम से सौदा करने के निर्देश दिए। इस संपूर्ण कार्यवाही हेतु मंडी में केवल एक ही गेट खोला जाएगा जिसके माध्यम से आवक-जावक सुनिश्चित किया जाएगा। मंडी में शत प्रतिशत थर्मल स्क्रीनिंग सुनिश्चित की जाएगी, कार्यवाही के दौरान सैनिटाइजर की उपलब्धता तथा इस कार्य में लगे सभी व्यक्तियों द्वारा फेस मास्क तथा हैंड ग्लव्स का उपयोग करना आवश्यक रहेगा।

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि प्रतिबंधात्मक आदेश प्रभावशील होने के कारण आसपास के कृषकों द्वारा उनके द्वारा उत्पादित प्याज को इंदौर मंडी में नहीं लाया जा सका और ना ही इसका क्रय विक्रय किया जा सका। जिसके चलते उन्हें काफी आर्थिक नुकसान होरहा था। साथ ही इस प्याज के खराब होने की आशंका भी बनी हुई थी।

उक्त समस्त कार्य के पर्यवेक्षण हेतु मंडी सचिव मानसिंह मुनिया तथा लक्ष्मीबाई नगर मंडी प्रांगण के प्रभारी रमेशचंद्र वर्मा को नियुक्त किया गया है। ये अधिकारी मौके पर उपस्थित रहकर समक्ष में पूर्ण स्वास्थ्य सुरक्षा मापदंडों का पालन कराते हुए कार्यवाही संपादित कराएंगे।

Related posts
देशमध्य प्रदेश

झोन अधिकारी अपनी मर्जी से जेसीबी किराए पर नहीं ले सकेंगे : अपर आयुक्त

नगर निगम वर्कशॉप प्रभारी चैतन्य ने…
Read more
देशमध्य प्रदेश

कांग्रेस सरकार में सिंधिया के छह मंत्री थे, तो क्या वो भ्रष्ट थे

मैं आरएसएस और भाजपा के खिलाफ सबसे…
Read more
देशमध्य प्रदेश

इंदौर की कृति और शिवपुरी के आरुष बने Emerging Face India

इंदौर I कोविड 19 के चलते शहर में कला…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group