Delhi: मंत्री सत्येंद्र जैन पर ED ने कसा शिकंजा, मनीष सिसोदिया का कहना- फर्जी है केस

आम आदमी पार्टी की सरकार के मंत्रियों के इस समय दिन अच्छे नहीं चल रहे. हाल ही में कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) को ED ने मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) केस में गिरफ्तार किया है.

Delhi: केजरीवाल सरकार के मंत्रियों पर इन दिनों लगातार बड़े-बड़े एक्शन लिए जा रहे हैं. हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ा कदम उठाते हुए दिल्ली में आप सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) को गिरफ्तार किया है. उनके खिलाफ मनी लांड्रिंग (Money Laundering) के आरोप लगाए गए हैं. बताया जा रहा है कि 2015-16 के दौरान जब सत्येंद्र लोक सेवा में थे और उनके स्वामित्व में जो कंपनियां थी उनमें कैश हस्तांतरण के खिलाफ कंपनियों से 4.81 करोड़ रुपए की आवास प्रविष्टियां मिली है.

जानकारी के मुताबिक इन पैसों का उपयोग जमीन की सीधी खरीदी के लिए या फिर दिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्रों में कृषि भूमि खरीदने के लिए ऋण देने के लिए किया गया था.

Must Read- TV की जस्सी Laal Singh Chaddha में बनी हैं 17 साल बड़े Aamir Khan की मां, हर तरफ हो रही चर्चा

जैसे ही सत्येंद्र को गिरफ्तार किया गया और यह पूरा मामला सामने आया. उस बीच दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) का बड़ा बयान सामने आया है. सिसोदिया ने सत्येंद्र जैन पर लगाए गए आरोपों को फर्जी करार देते हुए कहा कि उन पर 8 साल से फर्जी केस चल रहा है और कई बार ED उन्हें तलब कर चुकी है. बीच में कई साल तक उन्हें नहीं बुलाया गया क्योंकि उनके खिलाफ कुछ नहीं मिला है. अभी वापस शुरू कर दिया गया है क्योंकि वह हिमाचल के इलेक्शन इंचार्ज बनाए गए हैं.

मनीष सिसोदिया ने यह भी कहा कि हिमाचल में बीजेपी को बुरी तरीके से हार मिल रही है इसलिए सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) को गिरफ्तार कर लिया गया ताकि वह हिमाचल नहीं पहुंच पाए. वह कुछ दिनों में बाहर आ जाएंगे क्योंकि केस फर्जी है. इधर जैन की गिरफ्तारी के बाद बीजेपी ने आप सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि यह है इमानदार सरकार के इमानदार मंत्री.

बता दें कि सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) का नाता विवादों से पहले भी रहा है. उन पर अधिकारों के दुरुपयोग के आरोप कई बार लग चुके हैं. उनकी बेटी को मोहल्ला क्लीनिक के लिए सलाहकार नियुक्त किए जाने का मामला बहुत चर्चा में आया था. जिसे सीबीआई जांच के लिए दे दिया गया था. इसके अलावा कपिल मिश्रा की ओर से केजरीवाल के साथ सत्येंद्र जैन पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे.

केजरीवाल के करीबी नेताओं में शामिल सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) पेशे से आर्किटेक्ट है. केजरीवाल का करीबी होने के चलते उन्हें कैबिनेट में बड़ी जिम्मेदारियां दी गई है. अन्ना आंदोलन में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, जिसके बाद वह आम आदमी पार्टी से जुड़ गए.