आज एक ओर जहां देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के जन्मदिन के अवसर पर देश से 70 साल पहले 1952 में विलुप्त हुए चीते वापस भारत के मध्य्प्रदेश के श्योपुर जिले में स्थित कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में लाए जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर मीडिया से चर्चा में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस चीता इवेंट को लेकर केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार पर आरोपों की बौछार कर दी।

Also Read-Kuno National Park : पालपुर राजघराने का आरोप, शेरों के लिए दी थी जमीन लाए जा रहे हैं चीते, जिनके लिए काटे जा रहे हैं पेड़

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज मानस भवन में मीडिया से चर्चा में कहा

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मिडिया से चर्चा के दौरान कहा कि ‘आज सरकार चीता इवेंट कर रही है। अच्छा होता जहाँ यह कार्यक्रम हो रहा है श्यौपुर ज़िला , जो देश में सबसे ज़्यादा कुपोषित ज़िला है , वहाँ कुपोषण दूर करने पर सरकार कुछ करती। इसके साथ ही कमलनाथ ने कहा कि गुजरात के गिर से जो शेर मध्यप्रदेश आना थे , उस पर आज ये बात क्यों नहीं कर रहे है।

Also Read-शेयर बाजार : खाने का तेल बनाने वाली इस कम्पनी ने खिलाया अपने निवेशकों को घी शक़्कर, मिला 43 गुना रिटर्न

कही और भी बातें

शिवराज जी मोदी जी का कुछ भी नामकरण करे , मुझे उस पर कुछ नहीं कहना , वो उनका मामला है। अरुणोदय चौबे के सवाल पर कहा कि भाजपा आज दबाव – प्रभाव की राजनीति कर रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि आप किसी का दिल, मन, आत्मा की आवाज़ नहीं बदल सकते है। साथ ही कमलनाथ ने यह जानकारी भी दी कि आज संगठन चुनाव को लेकर हमारी यह बैठक हो रही है।