पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश के कारण मौसम का मिजाज लगातार बदलता जा रहा है। देश की राजधानी दिल्ली समेत एनसीआर से लेकर यूपी-बिहार तक, एक ओर जहां ठंड बढ़ती जा रही है, वहीं दक्षिण भारत के राज्यों में बारिशों का दौर लगातार जारी है। हिमालयी क्षेत्र में बर्फबारी की वजह से उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और मध्यप्रदेश में ठंड बढ़ने लगी है।

राजधानी दिल्ली के तापमान में भी गिरावट जारी है और प्रदूषण का स्तर अब भी खराब है। दिल्ली में 8.9 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ इस मौसम की सबसे ठंडी सुबह दर्ज की गई। आने वाले दिनों में जल्द ही शीतलहर जैसे हालात हो सकते हैं।

मौसम विभाग के अनुसार, वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव है, जिस कारण 2-3 दिन मौसम में इसी तरह की ठंड बनी रहेगी। वहीं ईरान के ऊपर बने पश्चिमी विक्षोभ के कारण 25 नवंबर के बाद मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। प्रदेश भर में न्यूनतम तापमान में तेजी से गिरावट आएगी और ठंड में इजाफा होगा। कई जिलों में शीतलहर भी चल सकती है। भोपाल और इंदौर समेत अधिकांश इलाकों में 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे पारा गिर सकता है। यह स्थिति 25 नवंबर से 28 नवंबर तक रहेगी।

देश भर में भारी बारिश का अनुमान

मौसम विभाग के मुताबिक, 22 से 23 नवंबर के बीच आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु तट के समुद्र में ऊंची लहरें उठ सकती हैं। आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु के कुछ स्थानों पर भारी बारिश के साथ कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश संभव है। 23 नवंबर से अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में बारिश की गतिविधियां तेज होने की उम्मीद है। कहीं-कहीं भारी बारिश के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। रायलसीमा और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में हल्की बारिश संभव है। अगले 2 से 3 दिनों के दौरान उत्तर पश्चिमी, मध्य और पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में दिन और रात के तापमान में और गिरावट आ सकती है।

 

राजधानी दिल्ली में मौसम का हाल

दिल्ली-NCR में तापमान तेजी से गिर रहा है। दिल्ली-NCR में पारा गिरने से लगातार लोगों को सुबह और शाम के समय तेज ठंड लग रही है। पहाड़ों में हो रही बर्फबारी से मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है। जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हो रही बर्फबारी के कारण दिल्ली के मौसम में बदलाव हुआ है। मौसम विभाग ने बताया कि दिल्ली-NCR के लोगों को आने वाले दिनों में तेज ठंड का सामना करना पडेगा।

Also Read : Hera Pheri 3 के बाद Akshay Kumar को 2 फिल्मों से भी मेकर्स ने किया आउट, बताई वजह

मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठण्ड होगी इस बार

पहाड़ी क्षेत्रों में होने वाली बारिश के कारण मध्य प्रदेश में ज्यादा ठण्ड का अनुमान लगाया जा रहा है। वहीं प्रदेश में सोमवार को तापमान में हल्की बढ़ोतरी दर्ज की गई, लेकिन हवा में ठंडक बनी हुई है। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया कि इस बार नवंबर के लास्ट तक कड़ाके की सर्दी का अहसास होने लगेगा। अब अगले कुछ दिनों में बैतूल, खरगोन, खंडवा, छतरपुर व जबलपुर में शीतलहर का असर दिख सकता है। 23-24 नवंबर को न्यूनतम तापमान में क्रमिक बढ़ोतरी संभव है।