नेपाल (Nepal) के पोखरा में रविवार को हुए हवाई जहाज हादसे में सवार 72 पैसेंजर में से 68 की मौत हो चुकी है। मृतकों में पांच भारतीय भी शामिल थे। लेकिन अभी भी चार लोगों के शव बरामद नहीं हो पाए है, जिसकी खोज आज फिर से शुरू कर दी गई है। वहीं सेना ने स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा कि अभी तक उसे कोई जिंदा नहीं मिला है। वहीं इस मध्य न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने हवाई अड्डे के अधिकारी शेर बाथ ठाकुर के हवाले से बड़ी इनफार्मेशन दी है। बताया जा रहा है कि क्षतिग्रस्त विमान का ब्लैक बॉक्स मिल गया है। इस ब्लैक बॉक्स के द्धारा हादसे की वजह का पता लगाया जा सकेगा। वहीं विमान हादसे को लेकर नेपाल में आज एक दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है।

मंजिल पर पहुंचने से कुछ सेकेंड पूर्व हुआ बड़ा हादसा

एयरलाइंस के 9N-ANC ATR-72 हवाई जहाज ने काठमांडू के त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से रविवार सुबह 10:33 बजे उड़ान भरी और उतरने से कुछ मिनट पूर्व पुराने हवाई अड्डे और नए हवाई अड्डे के मध्य सेती नदी के तट पर क्षतिग्रस्त हो गया।

Also Read – Maruti ने दिया तगड़ा झटका, Alto से लेकर Brezza तक सभी कारों की इतनी कर दी कीमत

पांच भारतीय यात्रियों की भी हुई पहचान

हवाई जहाज में कुल 68 पैसेंजर और चालक दल के चार सदस्य मौजूद थे। उत्तर प्रदेश के सभी पांच भारतीयों की पहचान अभिषेक कुशवाहा (25), विशाल शर्मा(22), अनिल कुमार राजभर( 27), सोनू जायसवाल (35) और संजय जायसवाल के रूप में हुई है। पांच भारतीयों में से चार पोखरा के पर्यटक केंद्र में पैराग्लाइडिंग गतिविधियों में भाग लेने का प्लान बना रहे थे। एक स्थानीय निवासी ने इस बारे में इसकी जानकारी दी.

पीएम मोदी और विदेश मंत्री जयशंकर ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल हवाई जहाज दुर्घटना शोक व्यक्त किया। पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि, “नेपाल में दुखद हवाई दुर्घटना से बहुत दुख हुआ, जिसमें भारतीय नागरिकों समेत कीमती लोगों की जान चली गई। दुख की इस घड़ी में, मेरे विचार और प्रार्थनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं।” विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी इस बड़े हादसे पर दुख जताया और पीड़ितों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने ट्वीट किया, “नेपाल के पोखरा में विमान दुर्घटना के बारे में सुनकर गहरा दुख हुआ। हमारी संवेदनाएं प्रभावित परिवारों के साथ हैं।”

नेपाल में इससे पहले भी हुए बड़े हादसे

29 मई 2022 को तारा एयरलाइन का हवाई जहाज हुआ था क्रैश: इस भीषण दुर्घटना में चार भारतीयों सहित सभी 22 लोगों की मौत हो गई थी। पोखरा से जोमसोम के लिए उड़ान भरने वाले तारा एयरलाइंस के विमान 9 NAET का संपर्क टूट गया था। इस विमान ने सुबह 9.55 बजे उड़ान भरी थी। लेकिन छह घंटे बाद इसका सुराग पता चला था.

2018 यूएस-बांग्ला एयरलाइंस फ्लाइट 211 क्रैश: यह विमान हादसा 2018 में हुआ था। विमान ढाका से काठमांडू जा रहा था। नेपाल के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरते समय यह दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हादसे में 51 लोगों की मौत हो गई थी। विमान में 71 लोग सवार थे।

2016 तारा एयर फ्लाइट 193 क्रैश: 24 फरवरी 2016 को यह विमान हादसा हुआ था। विमान पोखरा से जोमसोम के लिए उड़ान जा रहा था। टेकऑफ के आठ मिनट बाद हवाई जहाज लापता हो गया था। इसके बाद विमान का इसका मलबा दाना गांव के पास पाया गया। विमान में 23 लोग सवार थे। जिसमे से कोई भी नहीं बचा।

2012 सीता एयर फ्लाइट 601 क्रैश: 2012 में हुए इस विमान हादसे में 19 लोगों क मौत हो गई थी। विमान ने काठमांडू से उड़ान भरी थी, लेकिन टेक्निकल प्रॉब्लम के कारण इसकी आपाकालीन लैंडिंग कराई गई। इसी बीच हादसा हो गया और सभी की मौत हो गई।

2012 अग्नि एयर डोर्नियर 228 क्रैश: अग्नि एयर का डोर्नियर 228 विमान ने पोखरा से जोमसोम के लिए उड़ान भरी थी। जोमसोम हवाई अड्डे के पास पहुंचे ही हवाई जहाज बड़े हादसे का शिकार हो गया था। इसमें 21 लोग सवार थे। हादसे में पायलटों सहित 15 यात्रियों की मौत हो गई थी।