साल 2022 इंडियन क्रिकेट टीम के लिए कुछ ज्यादा स्पेशल नहीं रहा और टीम इंडिया को बड़े मैचों में हार का मुंह भी देखना पड़ा. लेकिन अब भारतीय टीम नए साल में पुरानी यादों को भुलाकर शानदार परफॉरमेंस करना चाहेगी. हालांकि टीम इंडिया के लिए साल 2023 सरल नहीं रहने वाला है और उसके सामने कई चैलेंजेस सामने रहने वाला हैं.

भारतीय टीम ने मीरपुर में हुए दूसरे टेस्ट मैच में बांग्लादेश को हराकर टेस्ट श्रृंखला 2-0 से जीत ली. इसके साथ ही साल 2022 में भारतीय क्रिकेट टीम की यात्रा अब ख़त्म हो चुकी है. अब टीम इंडिया साल 2023 में ही मैदान पर खेलते हुए दिखाई देगी. देखा जाए तो टीम इंडिया के लिए साल 2022 कुछ अहम नहीं रहा. एशिया कप और टी20 वर्ल्ड कप 2022 जैसे बड़े टूर्नामेंट्स में रोहित ब्रिगेड ख़ास मौकों पर चारों खाने चित हो गई. अब भारतीय टीम नए साल यानी कि 2023 में पिछली गलतियों एवं और पुरानी हार को भुलाकर शानदार प्रदर्शन करना चाहेगी. हालांकि भारतीय टीम के लिए साल 2023 आसान नहीं रहने वाला है साथ ही भारतीय टीम के लिए कई सारे चैलेंजेस भी सामने रहने वाले हैं।

भारतीय टीम को साल 2021 में विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के पहले सेशन के फाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों हार का मुंह देखना पड़ा था. अब टीम इंडिया एक बार फिर से टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने की रेस में शामिल है. यदि भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के अगेंस्ट चार में से तीन टेस्ट जीत लेती है तो वह आराम से फाइनल में अपनी जगह बना लेगी. फाइनल मुकाबला ओवल में जून के महीने में खेला जाएगा।

Also Read – SBI के बाद इस दिग्गज बैंक ने सीनियर सिटीजन को दी बड़ी खुशखबरी, FD पर मिलेगा शानदार रिटर्न!

टी20 क्रिकेट में परिवर्तन

भारत ने 2007 में अपने ओपनिंग सीजन की सक्सेस के पश्चात टी20 विश्व कप नहीं जीता है. साल 2021 और 2022 के टी20 विश्व कप में तो टीम इंडिया अपने सर्वोत्तम परफॉरमेंस से काफी दूर थी. ऐसे में टीम इंडिया को टी20 टीम में इम्प्रूवमेंट की बेहद जरुरत है. बीसीसीआई एक नए कप्तान पर विचार कर रही है जबकि इस फॉर्मेंट के लिए अलग कोच भी एजेंडे में है. आशा की जा रही है कि हार्दिक पंड्या इस परिवर्तन की अगुवाई करेंगे, जिसमें वरिष्ठ खिलाड़ी के स्थान पर युवा खिलाड़ियों को जोड़ा जाएगा.

2023 वनडे वर्ल्ड कप

टीम इंडिया अगले साल अक्टूबर के अंत में ओडीआई विश्व कप की मेजबानी करेगा. वनडे वर्ल्ड कप 12 साल बाद टीम इंडिया में वापसी कर रहा है. पिछली बार एमएस धोनी की टीम ने खिताब हासिल किया था. ऐसे में एक बार फिर टीम इंडिया से अपने घर पर अच्छी परफॉरमेंस की आशा जताई जा रही हैं . टीम इंडिया ने 2013 चैम्पियंस ट्रॉफी के बाद से कोई भी आईसीसी खिताब नहीं जीता है और 2023 में इस दुःख को ख़त्म करने का एक शानदार अवसर होगा.

वरिष्ठ बल्लेबाजों का भविष्य

विराट कोहली, रोहित शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, रवींद्र जडेजा और मोहम्मद शमी की उम्र अब 30 से अधिक हो चुकी है. कोहली-रोहित, भुवी और शमी ने निरंतर दो टी20 वर्ल्ड कप खेले हैं. वहीं रवींद्र जडेजा इंजरी के कारण 2022 टूर्नामेंट से बाहर हो गए थे. उप-कप्तान के रूप में केएल राहुल ने टॉप ऑर्डर में रन बनाने के लिए संघर्ष किया है. वहीं अश्विन और दिनेश कार्तिक भी अभी टी20 से रिटायर नहीं हुए हैं. वरिष्ठ खिलाड़ियों के फ्यूचर को लेकर नए साल में बीसीसीआई क्या निरनय लेगी इस पर सबकी निगाहें होंगी.

बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच प्रतिस्पर्धा पिछले कुछ सालों में तेजी से बढ़ी है. अब ऑस्ट्रेलियाई टीम भारतीय सरजमीं पर फरवरी-मार्च में चार टेस्ट मैच खेलने जा रही है. टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में स्थान प्राप्त करने के लिहाज से भारतीय टीम की ये श्रृंखला काफी खास है. साथ ही भारत पर अपने घरेलू रिकॉर्ड को भी बनाए रखने का भी प्रेशर रहेगा. ऑस्ट्रेलिया 2004 के बाद से भारत में नहीं जीता है. ऐसे में पैट कमिंस की अगुवाई वाली टीम अभी से ही चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला पर नजरें गड़ाए बैठी है. भारत को जीत प्राप्त करने के लिए अपना सर्वोत्तम देना होगा