इंदौर(Indore) : शिवपुराण मर्मज्ञ पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहा है कि हमारा पेट भरने की जिम्मेदारी परमात्मा की है लेकिन हमारे द्वारा रखी गई पेटी भरने की जिम्मेदारी परमात्मा की नहीं है । यदि हमारा ड्रेस और एड्रेस सही होगा तो हमें परमात्मा से मिलने से कोई नहीं रोक सकेगा । पंडित मिश्रा यहां दलालबाग पर आयोजित श्री शिव महापुराण कथा के पहले दिन श्रद्धालु जनों को कथा का श्रवण करा रहे थे । विधायक संजय शुक्ला के द्वारा अपने मित्र मंडल के सहयोग से आयोजित की गई इस कथा मैं भाग लेने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे थे ।

Read More : Live Darshan : कीजिए देश भर के प्रमुख मंदिरों के शुभ दर्शन

इन श्रद्धालुओं को शिव पुराण कथा का मर्म और आज के हालात पर मार्गदर्शन देते हुए पंडित मिश्रा ने कहा कि व्यक्ति का पेट भरने की जिम्मेदारी परमात्मा की होती है लेकिन पेटी भरने की जिम्मेदारी परमात्मा की नहीं होती है। भगवान ने पेट देकर भेजा है इसलिए उसे भरना उसकी जिम्मेदारी है । परिवार दिया है इसलिए उसका पालन पोषण करना भी उसकी जिम्मेदारी है । रिश्ते नाते दिए हैं तो उनका निर्वहन करना भी उसकी जिम्मेदारी है । भगवान ने पेटी नहीं दी थी तो उसे भरना भगवान की जिम्मेदारी नहीं है । व्यक्ति जब पेटी को भरने के चक्कर में लगता है तो वह पेट को भूल जाता है और पेटी को भरते – भरते शरीर व्यर्थ हो जाता है ।

Read More : जोबट विधायक Sulochana Rawat का ब्रेन ऑपरेशन हुआ सफल, खतरे से है बाहर

उन्होने कहा कि ड्रेस और एड्रेस सही हो तो भगवान के द्वार पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता है । यदि हम जुआ खेलने वाले के साथ बैठे हैं तो लोग हमें भी वैसा ही समझेंगे । यदि हम गलत काम करने वाले के साथ बैठेंगे तो लोग हमें भी वैसा ही समझेंगे और वही हमारा एड्रेस हो जाएगा । यदि हम भजन करने वाले के साथ बैठेंगे तो वैसा ही समझा जाएगा और यह सही एड्रेस ही हमें भगवान के द्वार तक पहुंचाएगा ।

निगम – प्रशासन से सहयोग की अपील

इस कथा के आयोजक विधायक संजय शुक्ला के द्वारा इंदौर नगर निगम जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से इस आयोजन में सहयोग करने की अपील की गई है । उन्होंने कहा कि आयोजन में भाग लेने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु आ रहे हैं ऐसे में नगर निगम की ओर से इस क्षेत्र में विशेष सफाई अभियान चलाकर इंदौर की गरिमा के अनुसार सफाई रखी जाए । पुलिस विभाग इन इतनी बड़ी संख्या में आ रहे श्रद्धालु जनों को देखते हुए पूरे क्षेत्र में वाहनों की आवाजाही के लिए सही तरीके से व्यवस्था करें । आयोजन स्थल पर नागरिकों की सुरक्षा के लिए पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाए । उन्होंने दोनों विभागों से सहयोग करने का आग्रह किया है ।