मोदी सरकार (Modi Government) ने बजट 2022-23 में अनेकों प्रकार के ऐलान किए थे. इनकम टैक्स (Income Tax) से लेकर मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर तक सभी के लिए बड़ी घोषणा और वादे किए थे. फिलहाल केंद्र सरकार (Central Governemnt) ने पिछले वर्ष के बजट में किए गए अपने वादों को पूरा कर दिया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने इस बारे में सूचना दी है.

MyGovIndia ने किया ट्वीट

MyGovIndia ने अपने आधिकारिक ट्वीट में लिखा है कि ‘मेक इन इंडिया’ से ‘आत्मनिर्भर भारत’ मुहिम को मजबूती मिली है. टैक्स प्रॉफिट के लिए मैन्युफैक्चरिंग शुरू करने की आखिरी दिनांक एक साल बढ़ाकर 31 मार्च 2024 कर दी गई. आत्मनिर्भर भारत’ की दिशा में इस पहल से भारतीय अर्थव्यवस्था की ग्रोथ को गति मिली .

Also Read – Shahrukh के बेटे Aryan Khan का चल रहा Nora Fatehi से अफेयर, वायरल तस्वीरों से हुआ खुलासा!

वित्त मंत्री ने किया ऐलान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2022-23 में ऐलान किया था. कि टैक्स प्रॉफिट के लिए निर्माण इकाइयों के लिए मैन्युफैक्चरिंग शुरू करने की वक़्त लिमिट बढ़ाई जाएगी. फिलहाल मोदी सरकार ने जो कहा था, कर दिखाया. मेक इन इंडिया को बढ़ावा दिया जा रहा है.

अब तक की प्रोग्रेस

टैक्स प्रॉफिट के लिए मैन्युफैक्चरिंग चालु करने की अंतिम दिनांक को 1 वर्ष के लिए बढ़ा दिया गया है. अब इसकी अंतिम दिनांक 31 मार्च 2024 कर दी गई है. इनकम टैक्स अधिनियम नागरिकों की कमाई पर टैक्स के लिए प्रस्ताव देने के साथ ही कई रियायत और छूट भी प्रदान करता है. इन रियायतों और छूट से टैक्स भरने वाले लोगों को बेहद सहायता भी हासिल होती है. इसी को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार की तरफ से वर्ष 2018 के बजट में एक मुख्य निर्णय लिया गया था.