Breaking News

छोटी उम्र के लड़के बन गए लड़कियां

Posted on: 08 May 2018 04:11 by Ravindra Singh Rana
छोटी उम्र के लड़के बन गए लड़कियां

इंदौर, (हेमा लोवंशी): नन्हें बच्चों की बात ही कुछ और होती हैं। नटखट और मोहक अदा ,भोली मुस्कान के साथ जब वह किसी को भी देखते हैं तो हर कोई मोहित हो जाता है। जी हां लालबाग परिसर में आयोजित मालवा उत्सव में भी यही हुआ।

6

नन्हें बच्चें जब स्टेज पर लड़कियां बनकर आए तो लोग उनके सुंदर रूप को देखते ही रह गए। आइए आपको भी बताते हैं कि नन्हें बच्चें लड़कियां बनकर आखिर आए क्यों।

7

गोटी यानी एक पुआ मतलब लड़के
जी हां यह नन्हें बच्चें मालवा उत्सव के मंच पर गोटी पुआ नृत्य करने के लिए लड़कियों के वेश में आए थे। उड़ीसा का लोकप्रिय नृत्य गोटी पुआ भगवान जगन्नाथ को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। गोटी का मतलब एक होता है पुआ का मतलब लड़के।

1

एक ईश्वर की आराधना कम उम्र के लड़के लड़कियों के वेश में करते हैं। उड़ीसा का लोकप्रिय गोटी पुआ नृत्य मैं राधा कृष्ण की प्रेमगाथा का वर्णन भी होता है। यह लोक नृत्य उत्सव , झूला उत्सव और नाउ शो के समय किया जाता है। भगवान जगन्नाथ की आराधना कई पिरामिड बनाकर की जाती है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com