135 किताबें लिख इस ‘जीनियस बॉय’ ने अपने नाम किए 4 वर्ल्ड रिकॉर्ड

0
54
mragendra raj

उत्तरप्रदेश : जिस उम्र में बच्चे किताब पढ़ने से कतराते हैं उसी उम्र में एक लड़के ने 135 किताबें लिख दी। भारत में टैलेंटेड और बहुत टैलेंटेड बच्चों की कमी नहीं है। आज हम बात कर रहे हैं एक ऐसे जीनियस बच्चे की जिसने महज 6 साल की उम्र से किताबें लिखनी शुरू कर दी थी। इसके बाद 12 साल की उम्र में यह अपना नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करवा चुका है। यूपी के रहने वाले 12 वर्षीय मृगेंद्र राज के कारनामे से सभी हैरान हैं। लेखक के तौर पर ‘आज का अभिमन्यु’ नाम का इस्तेमाल करता है।

दरअसल 12 साल की उम्र में इस बच्चे ने धर्म और जीवनी जैसे विषयों पर अबतक कुल 135 किताबें लिखी हैं। मृगेंद्र राज के नाम अब तक चार वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज हो चुके है। मृगेंद्र के प्रतिभा की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। वह अभी तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई मशहूर हस्तियों की जीवनी जैसे विषयों पर लिख चुके हैं।

मृगेंद्र राज कहा –
“मैंने रामायण के 51 किरदारों का विश्लेषण करके किताबें लिखीं जिसके के बाद उनका नाम दुनियाभर में नाम चर्चित हो गया है। मेरी प्रत्येक पुस्तक 25 से 100 पृष्ठों की होती है। मुझे डॉक्टरेट के लिए लंदन में वर्ल्ड यूनिवर्सिटी ऑफ रिकॉर्ड्स से भी ऑफर मिला है।’

मृगेंद्र राज की मां ने कहा –
मृगेंद्र राज की मां अध्यापिका है और बेटे के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि मृगेंद्र को बचपन से ही पढ़ने लिखने का शौक है। हम लोगों ने भी बेटे को प्रोत्साहित किया। मृगेंद्र के पिता राज्य के चीनी उद्योग और गन्ना विकास विभाग में काम करते हैं। मृगेंद्र का कहना है कि वह बड़ा होकर एक प्रसिद्ध लेखक बनाना चाहता है और कई विषयों को लेकर ज्यादा से ज्यादा किताबें लिखना चाहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here