चीनविदेश

स्टडी का दावा- वैक्सीन बनने तक नहीं हटाया जाए लॉकडाउन, वरना हालात हो सकते है बेकाबू!

नई दिल्ली : देशभर में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. इस बढ़ते कहर के चलते देशभर में लॉकडाउन भी जारी है. हाल ही में कोरोना वायरस को लेकर की गई एक नई स्टडी में कहा गया है कि “जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं मिल जाती, तब तक संक्रमण से जूझ रहे देशों को अपने यहां से लॉकडाउन नहीं हटाना चाहिए।”बता दें कि इस स्टडी में ऐसे देशों को चेतावनी दी गई है, जो धीरे-धीरे लॉकडाउन हटाने के लिए सोच रहे है.

हांगकांग में हुई इस स्टडी में कहा गया है कि चीन में अगर प्रतिबंधों में छूट दी जाती है और वहां लोगों की हलचल बढती है तो कोरोना वायरस का संक्रमण चीन फिर दस्तक दे सकता है.

रिसर्च की अगुआई करने वाले यूनिवर्सिटी ऑफ हांगकांग के प्रोफेसर टी वू ने कहा है कि “लोगों के मूवमेंट पर लगे प्रतिबंधों की वजह से संक्रमण की संख्या कम करने में काफी मदद मिली. लेकिन अब स्कूल-कॉलेज और बिजनेस-फैक्ट्रियों के खुलने से लोग दोबारा से एकदूसरे के संपर्क में आने लगेंगे. इससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा. ये पूरी दुनिया के लिए खतरनाक होगा.”

प्रोफेसर ने आगे कहा है कि “अच्छा होगा कि आर्थिक गतिविधि को थोड़ा गति और उत्पादन शुरू करने के साथ ही फिजिकल डिस्टेंसिंग और एकदूसरे से कम से कम संपर्क में आने का प्रयास करते रहना चाहिए, जब तक की कोरोना वायरस को लेकर वैक्सीन नहीं बना ली जाती.”