Trending News

विश्व जनसंख्या दिवस : बढ़ती आबादी पहुंचा रही पृथ्वी को नुकसान

Posted on: 11 Jul 2018 07:38 by krishna chandrawat
विश्व जनसंख्या दिवस : बढ़ती आबादी पहुंचा रही पृथ्वी को नुकसान

World population day special 

देश में प्रतिदिन जनसंख्या में वृद्धि होती जा रही है। जिससे धरती छोटी पड़ने लगी है भारत की एक सर्वे एजेंसी के मुताबिक देश में 3080 से ज्यादा बच्चें रोज पैदा हो रहें हैं। देश की इस बढ़ती आबादी से गरीबी, बेरोजगारी, कुपोषण, आतंकवाद जैसी समस्या सामने आने लगी है। आज भारत की जनसंख्या 135 करोड़ के पार पहुंच गई है जो कि चीन से कुछ कदम पीछे है, चीन की 141 करोड़ की जनसंख्या के साथ विश्व में पहले स्थान पर है।

देश की सरकार राज्य सरकरों के साथ मिलकर बढती जनसंख्या को रोकने का काम कर रही है लेकिन सरकार की तमाम योजनाये फेल होती नजर आ रही है। इसके विपरीत देश की आबादी बढ़ती जा रही है। इसे कंट्रोल के लिए दो-दो जनसंख्या नीति बनाई जा चुकी है। छोटे परिवारों को चिन्हींत किया गया ताकि उन पर निगरानी रखी जाये। फिर भी यह थमने का नाम नही ले रही है।

बढ़ती आबादी से पृथ्वी को हो रहा नुकसान

जनसंख्या में वृद्धि के साथ-साथ मनुष्य की उपभोग और आवश्यकताओं में भी वृद्धि हो रही है इनकी पूर्ति के लिए मनुष्य ने प्रकृति के साथ खिलवाड़ करना शुरू कर दिया है जिससे जल, वायु ,मृदा प्रदूषित हो रही है।

वाहनों और कारखानों से निकलने वाले रासायनिक धुए से कार्बन डार्इ ऑक्साइड, नाइट्रस ऑक्साइड, मिथेन, क्लोरो फलोरो कार्बन तथा ओजोन प्रभावित हो रही है। ये गैस पृथ्वी की सतह के तापमान को संतुलित करती है। जिससे कृषि उत्पादन तथा पेड पौधो के विकास में सहायता मिलती है। जिससे ब्रम्हांडीय तापमान में वृद्धि हो रही है।

जनसंख्या वृद्धि के साथ-साथ बीमारियों भी बढ़ती जा रही है। बढ़ती बेरोजगारी भी इसके लिए जिम्मेदार है क्योकि लोगो को पोषित आहार नहीं मिल पा रहा है जिससे कुपोषण, अपंगता जैसी बीमारियां बढ़ रही है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com