साथ मिलकर रखेंगे दिल की सेहत का ध्यान, लगेगा निशुल्क रदय शिविर

पहले जिन बीमारियों से एक लम्बी उम्र जी लेने के बाद दो-चार होना पड़ता था अब वो बीमारियां युवावस्था में ही लोगों को अपना शिकार बनाने लगी है।

0
61
heart day

इंदौर। किस्से-कहानियों में तो हम दिल की बातें खूब करते हैं पर रोजमर्रा की ज़िंदगी में अपने दिल की सेहत अच्छी रखने के लिए थोड़ा-सा भी वक्त नहीं निकालते। नतीजा छोटी उम्र में ही दिल की बड़ी बीमारियां सामने आने लगी है। कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर आज आम समस्याएं बन चुके है और हृदयघात की घटनाएं पहले से कही ज्यादा होने लगी है। पहले जिन बीमारियों से एक लम्बी उम्र जी लेने के बाद दो-चार होना पड़ता था अब वो बीमारियां युवावस्था में ही लोगों को अपना शिकार बनाने लगी है।

तेज़ी से बदलते परिवेश और दिनचर्या में अपने दिल की सेहत का ध्यान कैसे रखा जाए यह बताने के लिए विश्व ह्रदय दिवस के उपलक्ष्य में कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया की इंदौर शाखा द्वारा रविवार दिनांक 29 सितंबर 2019 को सवेरे 9:00 से शाम 4:00 बजे के बीच शासकीय ग्रामीण हाट मेला परिसर, ढक्कन वाले कुएं के पास एक विशाल निशुल्क हृदय मेले का आयोजन किया जा रहा है। यहाँ ब्लड प्रेशर और शुगर की जाँच निशुल्क की जाएगी।बीपी के मरीजों के लिए वैस्कुलर एज एवं सेंट्रल प्रेशर की जांच की सुविधा भी होगी। भविष्य में लकवे जैसे गंभीर रोग की आशंका होने पर मशीन द्वारा इसके रिस्क का एनालिसिस भी किया जाएगा। यहाँ ऑटोमेटिक एक्सटर्नल डिफिब्रिलेटर का उपयोग करना भी सिखाएंगे।

ओपन हाउस सेशन में शहर के नामचीन डॉक्टर्स देंगे परामर्श कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया, इंदौर शाखा के अध्यक्ष डॉक्टर जगदीश चंद्र गुप्ता कहते हैं कि कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया की इंदौर शाखा द्वारा यह भव्य आयोजन अपने शहर तथा प्रदेश में बढ़ते हुए हृदय रोग खासकर कम उम्र में आने वाले हार्ट अटैक से बचाव हेतु किया गया है। यहाँ निशुल्क जांचों के साथ ही ओपन हाउस सेशन में लोगों को शहर के नामचीन डॉक्टरों से अपनी समस्याओं का समाधान जानने का मौका भी मिलेगा। कार्यक्रम का शुभारंभ स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट करेंगे।

मिलेगी सीपीआर की हैंड्स ऑन ट्रेनिंग कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया , इंदौर शाखा सचिव डॉक्टर मनोज बंसल कहते हैं कि दिल का दौरा पड़ने पर यदि मरीज को समय पर सीपीआर दिया जाए तो उसकी जान बचने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है पर विडम्बना यह है कि हमारे समाज में हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट के मामले जितनी तेज़ी से बाद रहे हैं, उतनी तेज़ी से लाइफ सेविंग स्किल्स सिखाने के लिए काम नहीं किया जा रहा है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमने शिविर में सीपीआर ट्रेनिंग सेशन भी रखा है, जहाँ मैनिक्विन पर लोग सीपीआर देने की हैंड्स ऑन ट्रेनिंग ले पाएंगे। हम शहरवासियों से अपील करते हैं कि बड़ी संख्या में इस निशुल्क शिविर का लाभ लेकर रखें अपने दिल की सेहत।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here