Breaking News

क्यों कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर बोपैया से डर गई कांग्रेस? दागदार रहा है अतीत

Posted on: 19 May 2018 08:39 by Surbhi Bhawsar
क्यों कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर बोपैया से डर गई कांग्रेस? दागदार रहा है अतीत

कर्नाटक: कर्नाटक में मुख्यमंत्री पद की शपथ के लिए येदियुरप्पा को बुलाए जाने के राज्य्पाक के फैसले के खिलाफ कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इसके बाद आज बहुमत परिक्षण कराने के लिए जब  राज्यपाल ने बोपैया को प्रोटेम स्पीकर नियुज्त किया, तो कांग्रेस आधी रात को सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई।Image result for कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर बोपैयाबता दे कि कांग्रेस प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति रद्द कराना चाहती थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने बोपैया को ही प्रोटेम स्पीकर बने रहने के लिए कहा है। माना जा रहा है कि बोपैया के अतीत को लेकर कांग्रेस खौफ में है और उन्हें प्रोटेम स्पीकर बनाए जाने का विरोध कर रही है।Image result for कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर बोपैयाकांग्रेस के खौफ की पहली वजह बोपैया का अतीत है और दूसरी वजह है कि आज विधानसभा में अगर कांग्रेस के विधायक बगावत करते हैं, तो ऐसे में स्पीकर की भूमिका बेहद अहम हो जाएगी।

आईए आपको बताते है बोपैया का अतीत-

16 विधायकों को बता दिया था अयोग्य:
के. जी बोपैया वेदियुर्प्पा के करीबी माने जाते है और उनका साथ भी निभा चुके है। 2009 से 2013 तक बोपैया कर्नाटक विधासभा के स्पीकर रह चुके है और इससे पहले 2008 में भी प्रोटेम स्पीकर नियुक्त हो चुके है।Image result for कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर बोपैयादरअसल, 12 अक्टूबर 2010 को अवैध खनन मामले में जब बीजेपी के विधायक सदन के अंदर अपनी ही सरकार का विरोध कर रहे थे, तब बतौर स्पीकर बोपैया ने 11 बागी विधायकों और 5 निर्दलीय विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया था। इस फैसले से येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार बच गई थी।Image result for कर्नाटक के प्रोटेम स्पीकर बोपैयाहालांकि, बाद में सुप्रीम कोर्ट ने बोपैया के उस फैसले को गलत ठहराया था। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि बोपैया ने पक्षपात किया और स्वाभाविक न्याय तक का उल्लंघन किया।’

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com