Breaking News

गणेश जी की प्रतिमा की मिट्टी पर भूलकर भी तुलसी का पौधा ना लगाएं पाप के भागी बनेंगे

Posted on: 19 Sep 2018 10:59 by Ravindra Singh Rana
गणेश जी की प्रतिमा की मिट्टी पर भूलकर भी तुलसी का पौधा ना लगाएं पाप के भागी बनेंगे

Why is it auspicious to keep a Tulsi plant at home

प्रबुद्धजन निम्न शास्त्रोक्ति पर जरूर पूर्ण गम्भीरता से विचार करें:-
“नार्चयेदक्षतेर्विष्णु, न तुलस्यागनाधिपम।
न दुर्व्ययजेद्देवी, बिल्वपत्रें न भास्करं।
अर्थात, विष्णु को अक्षत, गणपति को तुलसी, देवी को दूर्वा और सूर्य देव को बिल्वपत्र वर्जित है।
दूसरा, खंडित प्रतिमा को घर में नहीं रखना भी वर्जित है

उपरोक्त शास्तेयोक्ति के संधर्भ में
यदि आप घर में गणपति विसर्जन करते हो और उसमे तुलसी दल का पौधा लगाते हो तो आप निम्न घोर अनुचित कार्य कर रहे है।
पहला, घर में विसर्जित अर्थात गणपति की पूर्णतया खंड-2 मूर्ति को गमले में एकत्र करके घर में रख रहे है और उस पर वर्जित तुलसी दल भी अर्पित कर रहे हो क्योकि, तुलसी का
पौधा लगाने के लिए पूर्ण खंड मूर्ति पर तुलसी तो डालना ही पडेगी।

विसर्जन नदी तालाब आदि में ही करे।
क्योंकि जब का नालों और सीवरेज के नदी में मिलने से नदीया दूषित नहीं होती तो मिटटी की प्रतिमाओ से कुछ नहीं बिगड़ेगा।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com