Breaking News

शमशान घाट के पास से जब भी गुज़रे इन बातों का विशेष ध्यान रखें, वर्ना होगा बहुत बुरा

Posted on: 18 Jun 2018 14:51 by Lokandra sharma
शमशान घाट के पास से जब भी गुज़रे इन बातों का विशेष ध्यान रखें, वर्ना होगा बहुत बुरा

हिन्दू धर्म के अनुसार शरीर पांच तत्वों से मिलकर बना होता है, और आखरी में पांच तत्वों में ही मिल जाता है. इसीलिए हिन्दू मृत व्यक्ति को जलाते हैं. मृत शरीर को जलाने वाले स्थान को शमशान घाट कहा जाता है, जोकि नदियों के पास होते हैं. माना यह भी जाता है शाशन घाट में मृत आत्माओं का बसेरा होता है. यही कारण है कि वहां सभी को जाने की अनुमति नहीं दी जाती है. हिंदू धर्म में स्त्रियों का श्मसान घाट जाना वर्जित है, इसके अलावा भी कई ऐसी परिस्थितियां होती है जिसमें शमशान जाना उचित नहीं माना जाता.  जानते हैं इसके पीछे क्या कारण है…

रात के समय में शमशान की तरफ न जाएं क्योंकि कहा जाता है कि रात के समय में नकारात्मक शक्तियां काफी ज़्यादा शक्तिशाली हो जाती है. जो मानसिक रूप से कमज़ोर व्यक्ति को अपने वश में कर सकती है. ऐसे में अगर कोई व्यक्ति भावनात्मक रूप से कमजोर है और उसे नकारात्मक सोच ने घेरा हुआ है, तो उसका इनके प्रभाव में आने से खुद पर प्रभाव छुट जाता है.

शमशान से जुड़ी धार्मिक मान्यता धार्मिक मान्यताओं के अनुसार श्मशान पर भगवान शिव और मां काली का अधिपत्य होता है. ऐसी मान्यता है कि अंतिम संस्कार के बाद भगवान शिव मृत आत्मा को अपने अंदर समाहित कर लेते हैं.. ऐसे में किसी मानव की उपस्थिति से इस प्रक्रिया में बाधा नहीं पहुंचनी चाहिए अन्यथा उसे मां काली के प्रकोप का सामना करना पड़ सकता है.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com