Breaking News

दो प्यार करने वालों को जब जब दुनिया तड़पाएगी, मोहब्बत बढ़ती जाएगी

Posted on: 02 Feb 2019 13:28 by Surbhi Bhawsar
दो प्यार करने वालों को जब जब दुनिया तड़पाएगी, मोहब्बत बढ़ती जाएगी

नीरज राठौर

तेलंगाना के प्रणय दलित समुदाय के थे और अमृता सवर्ण समुदाय की । दोनों ने प्रेम किया, शादी की। लेकिन अमृता के घरवालों ने कथित रूप से प्रणय की निर्मम हत्या करा दी। प्रणय की हत्या के वक़्त अमृता गर्भवती थी। उस पर दवाब डाला गया कि वह अबॉर्शन करा लें। अमृता अपने पिता और चाचा को प्रणय का हत्यारा मानती है।

वह ना घरवालों के और ना ही समाज के दवाब में आई। अब ख़बर आयी है कि उसने एक प्यारे से बच्चे को जन्म दिया है। ठीक अपनी शादी की सालगिरह के दिन! अमृता इस बच्चे को जातिवाद के खिलाफ अपने प्रेम की जीत मानती है। इस तस्वीर को देख कर मुस्कुराइए। जातिवाद कहीं सहमा हुआ नज़र आएगा।

इस घटना से मुझे संगीतकार नदीम श्रवन की ये पंक्तिया याद आ गई-

“बादल को बरसने से, बिजली को चमकने से कोई भी रोक ना पाएगा,
फूलों को महकने से, बुलबुल को चहकने से कोई भी रोक ना पाएगा,
जब जब उल्फ़त की राहों में दुनिया दीवार उठाएगी, मोहब्बत बढ़ती जाएगी
इस दिल की यादों को, महबूब के वादों को, कोई क्या बांधे ज़ंजीरों से
चाहत के खज़ानो को, नज़रों के फ़सानो को कोई पा ना सके जागीरों से
जब जब दुनिया दिलवालों को दीवारों मे चुनवाएगी, मोहब्बत बढ़ती जाएगी

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com