Breaking News

सौदे कम मात्रा में होने और उपलब्धता बढऩे से गेहूं के दाम गिरे

Posted on: 26 Jun 2018 14:23 by Praveen Rathore
सौदे कम मात्रा में होने और उपलब्धता बढऩे से गेहूं के दाम गिरे

इंदौर। बारिश के कारण दलहनों की आवक कमजोर रही, वहीं कामकाज भी सुस्त है. गेहूं वायदा में मंदा है, हाजर में चना सहित सभी अनाज, दाल और दलहनों के भाव यथावत है। बाजार क्षेत्रों के अनुसार चने के भाव 3500-3525 रुपए पर ठहरे हुए है। डालर चने की पांच हजार बोरी और गेहूं की 400 बोरी आवक रही। भाव भी कम करके बिकवाली की जा रही है। उधर, पर्याप्त स्टॉक के बीच अधिक आवक और सटोरियों के सौदे घटाने के बाद वायदा कारोबार में गेहूं के भाव गिरकर 1,829 रुपये प्रति क्विंटल रह गए हैं। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि सटोरियों के सौदे घटाने, उत्पादक क्षेत्रों से तेज आवक के मुकाबले पर्याप्त स्टॉक और कमजोर मांग से वायदा कारोबार में गेहूं के भाव नरम रहे।

खरीफ एमएसपी का एलान अब तक नहीं – किसानों को लागत का 50 फीसदी एमएसपी देने के वादे के बाद इस बार खरीफ की एमएसपी तय करने में काफी देर हो चुकी है। ये जून के पहले या दूसरे सप्ताह में हो जाना चाहिए। अब तक ये नहीं हो सका है। सवाल ये है कि कैसे होगी खरीफ की खेती। क्योंकि एमएसपी के अभाव में खेती काफी पिछड़ “ई है। अब तक कुल बुआई करीब 10 फीसदी पीछे है। धान की खेती में 4 फीसदी की गिरावट आई है। जबकि दलहन की खेती में 24 फीसदी की कमी आई है जिसमें तुवर की खेती करीब 45 फीसदी गिर गई है। वहीं तिलहन की बुआई करीब 50 फीसदी गिर गई है। इस बीच खेती की लाुत बढऩे जा रही है। क्रूड में तेजी, रुपये में कमजोरी और खाद के दाम बढऩे से खेती की लागत बढऩा तय हो गया है।

अनाज- गेहूंं हल्का 1750-1780, लोकवन 1800-1900, बेस्ट 1900-2000, 147 गेहूं 1750-1850, बेस्ट 1900-2000, चंद्रौसी 3000-3200, जवार 1150-1200, सीएच फाइव 1250-1300, बढिय़ा 1600-1800 रुपए क्विंटल। मक्का पीली 1270-1290, गज्जर 1250-1260 रुपए क्विंटल।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com