देश में मानसून ने करवट बदलते ही बरसात ने तबाही मचाना शुरू कर दिया हैं। जिससे लोगो का जीवन यापन करना मुश्किल हो गया है। लगातार हो रही भीषण वर्षा की वजह से आमजनों की मुसीबतो का दौर शुरू हो गया है। मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटों में आशंका जाहिर की है भारत के कई जिलों में अतिबारिश होने की संभावना जताई है। इसी के साथ और कई जिलों को नुकसानी का सामना करना पड़ सकता है।

ये राज्य भीषण बरसात की चपेट में

मौसम विभाग के अनुसार, देश में लगातार हो रही बरसात की वजह से बीते कल से चक्रीय परिसंचरण उत्तर पूर्वी राजस्थान के आसपाल फैला हुआ है। उसी चक्रीय परिसंचरण तक पूर्वोत्तर अरब सागर से एक अल्प दबाव की रेखा विस्तृत थी और बंगाल की खाड़ी से निम्न विक्षोभ मंडलीय दक्षिणी और दक्षिणी पूर्वी हवाओं के माध्यम से आर्द्रता की आपूर्ति हो रही थी। जिसके कारण उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में अत्यंत भारी वर्षा दर्ज हुई, वहीं पश्चिम बंगाल, सिक्किम में भी भारी वर्षा हुई। उत्तराखंड, तमिलनाडु, बिहार में कहीं कहीं भारी से अति भारी वर्षा दर्ज की गई।

Also Read : मौसम विभाग ने जारी किया भारी बारिश का अलर्ट, 16 अक्टूबर तक इन जिलों में भारी बारिश होने की संभावना की व्यक्त

यहा होगी हल्की बारिश

आगे उन्होंने बताया कि,चक्रीय परिसंचरण हरियाणा पर प्रभावी है और जो रेखा कल पूर्वोत्तर अरब सागर से इस चक्रीय परिसंचरण तक विस्तृत थी आज पूर्वोत्तर अरब सागर से इसका जुड़ाव हट चुका, आज इसमें नमीं नहीं होगी। इसके कारण हरियाणा, राजस्थान आदि भारी वर्षा से मुक्त रहेगा लेकिन आज उत्तराखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बिहार में भारी वर्षा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश में भारी से अतिभारी वर्षा की सम्भावना है।

इस तारीख से बदलेगा मौसम

मौसम विभाग ने अपने बुलेटिन में बताया कि, 11 अक्टूबर से बारिश में हल्की कमी होगी। 12 अक्टूबर से मौसम बदलेगा तो वहीं पश्चिमी उत्तर भारत वर्षा से मुक्त हो जायेगा। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड भारी वर्षा से मुक्त होगा लेकिन बिहार, पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भारी वर्षा होगी। बारिश की तीव्रता में कमी आ रही है दक्षिणी पश्चिमी मानसून की अगले 4-5 दिनों में उत्तर पश्चिम भारत, मध्य भारत से वापसी की स्थितियां बदल जाएँगी।

उधर मौसम विभाग ने कहा है कि महाराष्ट्र, कर्णाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, केरल में हलकी से मध्यम वर्षा और कहीं भारी वर्षा हो सकती है लेकिन कल से कमी आएगी। अलर्ट जारी करते हुए मौसम विभाग ने बताया कि तमिलनाडु में चक्रीय परिसंचरण दिखाई दे रहा है जिसके कारण अगले 5 दिनों तक भारी वर्षा की सम्भावना है।