देश के इन 6 राज्यों में गहराया जल संकट, केंद्र सरकार ने जताई चिंता | Water Crisis deepens in 6 States, Central Government Expressed Concern

0
90

नई दिल्ली – देशभर में लगातार बढ़ रही गर्मी के साथ जल संकट भी गहराना शुरू हो गया है। जिसके चलते देश के 6 राज्य जलसंकट से जूझ रहे है। इन 6 राज्यों के बांधों में पानी काफी निचले स्तर पर पहुंच गया है। जिसको लेकर केंद्र सरकार ने चिंता जाहिर करते हुए इन 6 राज्यों में एडवाइजरी जारी की है।

केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि मानसून आने तक पानी के उपयोग में थोड़ी एहतियात बरती जाए। वहीं केंद्र ने कहा कि मानसून आने तक इन राज्यो को जल संकट से जूझाना पड़ेगा।

इन राज्यों में गहराया जल संकट –

बता दें कि केंद्र ने महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में सूखे को लेकर ड्राउट एडवाइजरी जारी की है। बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में इन राज्यों में जल संकट और गहरा सकता है।

सेंट्रल वाटर कमीशन के सदस्य एसके हलदर की मानें तो ड्राउट एडवाइजरी उस समय जारी की जाती है। जब जलाशयों में पानी का स्तर पिछले 10 सालों के औसत से 20 प्रतिशत नीचे गिर जाता है।

जलाशयोें की स्थिति –
गुजरात और महाराष्ट्र के 27 जलाशयों में पानी का स्तर बहुत ही नीचे पहुंच गया है। इन राज्यों में जलाशयों की की दक्षमता 31.6 बीसीएम है। लेकिन इन जलाशयों में पानी का स्तर 4.10 बीसीएम पहुंच गया है। यानी जलाशयों के कुल क्षमता का सिर्फ 13 फीसदी पानी ही बचा है। जो कि पिछले साल की तुलना में काफी कम है। बीते साल इन्ही जलाशयों में कुल पानी का 18 फीसदी जल मौजूद था।

वहीं तेलंगाना में 2, आंध्र प्रदेश में 1, कर्नाटक में 14, केरल में 6 और तमिलनाडु में भी 6 जलाशय हैं जिसकी साझा जल संचयन क्षमता 51.59 बिसीएम हैं लेकिन इनमें अब 6.86 फीसदी पानी बचा है। यानी इन जलाशयों में कुल पानी की जल संचयन क्षमता का मात्र 13 फीसदी पानी ही बचा है।

सेंट्रल वाटर कमीशन के अनुसार देश में 161.93 बीसीएम जल संचयन क्षमता वाले 91 जलाशयों की कुल क्षमता का सिर्फ 22 फीसदी पानी ही बचा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here