वार: एक्शन पैक्ड धमाका

0
151
war

लेखक-निर्देशक: सिद्धार्थ आनन्द,
अदाकार ऋतिक रोशन, टाइगर श्रॉफ,वाणी कपूर, आशुतोष राणा, दीपानिता शर्मा, अनुप्रिया गोयन्का
संगीत: विशाल शेखर

बड़ी फिल्म पर फिल्म पर एक छोटी चर्चा तो बनती है। फिल्म का शूट 2018 जनवरी के दूसरे सप्ताह से शुरू हुआ था, जो कि 2019 तक चला, पहले फिल्म का नाम फाइटर्स तय हुआ था, फिर अंत मे ‘वॉर‘ पर सहमति बनी और तय हुआ ऋतिक-और टाइगर दोनो की एक्शन और डांस में पारंगत होने के साथ भारत मे बड़ी सख्या में फेन्स रखते हैं। यही गुणवत्ता दोनो हीरो की इस फिल्म को नए मुकाम पर ले गई है, टाइगर की फैन फॉलोइंग खासकर युवाओं में लगातार बढ़ रही है, वही ऋतिक अब देश के हर वर्ग की पसन्द बनते जा रहे है।

कहानी

अंतरराष्ट्रीय आतंक पर जब बात होती है तो पूरा विश्व चुटकी भर हो जाता है। वतन परस्ती साबित करना आसान तो नही होता, कई बार जान की कीमत चुका कर साबित की जाती हैं, लेफ्टीनेंट खालिद (टाइगर श्रॉफ) भारतीय सेना में पदस्थ है, और उसके वालिद देशद्रोही होकर मरे थे, खालिद पर यह कलंक की उसके वालिद देशद्रोही थे, पल पल इस कलंक को मिटाने के लिए जी जान से मेहनत करता है।

भारतीय सेना में कार्यरत कर्नल लूथरा (आशुतोष राणा) सीक्रेट मिशन पर काम कर रहे होते है जिसमे कर्नल कबीर (ऋतिक) भी शामिल है, वही सेना में एक नया जवान खालिद अपनी काबिलियत साबित करते हुए। कर्नल कबीर की टीम में शामिल किया जाता है, के देश के लिए उन आतंकियों को खोज निकाल कर खात्मा करना है जो देश की अस्मिता के लिए खतरा बनते जा रहे हंै।

खालिद को कर्नल कबीर के टीम में पोस्ट किया जाता है, लेकिन कबीर इसके खिलाफ है, कहाकि खालिद के वालिद को कबीर ही ने शूट करके सजा दी थी, परन्तु खालिद खुद को साबित करता है और कबीर का दिल जीतने में कामयाब होता है, लेकिन कबीर एक मिशन के बाद कर्नल कबीर देश के कुछ लोगो को मारना शुरू कर देता है, उसे रोकने के लिए मिशन पर खालिद निकलता है।

गुरू चेला आमने सामने जिसमें फिल्म में बहुत कुछ टर्न्स और ट्विस्ट आते है जो आपको कुर्सी से चिपके रहने को मजबूर कर देते है।

कुछ सवाल

क्या खालिद खुद के वालिद के देशद्रोही कलंक को धो पाता धो पता है? खालिद, कर्नल कबीर को रोक पाता है? कर्नल कबीर क्यो देश सेवा करते करते लोगो को जान लेने लगता है? इन सब सवलो के जवाब के लिए फिल्म देखी जा सकती है।

अदाकारी

ऋतिक निखर के सोना हो चले है, अब वह खुद को किरदार के अनुरूप ढाल लेते हैं, जब नकारात्मकता पर आते है ऋतिक तो और जानदार अभिनय करते है, टाइगर भी अपने किरदार से न्याय कर गए।

वाणी को जितना काम मिला खूबसूरती से निभाया, आशुतोष राणा वह कील है जो किसी भी दीवार पर लग जाते है, उम्दा अभिनय किया है बाकी सहयोगी कलाकार भी अच्छा काम कर गए है।

निर्देशन

आनन्द का निर्देशन बढ़िया है, खास बात लोकेशन पर खूब काम किया गया है, पूरे विश्व के सात देशों के 15 शहरों में शूट किया गया, जो कि मनोहारी लगता है।

संगीत

सिर्फ दो गाने रखे गए है वह भी भारतीय दर्शकों के लिए नही तो फिल्म विश्व सिनेमा की तर्ज पर बनी है जिसमे गाने नही होते तो भी काम चल जाता। जय जय शिव शंकर, जितना खूबसूरत बना है उससे कई गुना खूबसूरत डांस किया है ऋतिक और टाइगर ने एक्शन हम शने शने विश्व सिनेमा को पछाड़ने में लगे है उसमें यह फिल्म एक कदम हमे और आगे ले जाती है।

फिल्म के सामने दक्षिण की साइरा नरसिम्हा रेड्डी, हॉलीवुड की शानदार फिल्म जोकर भी प्रदर्शित हुई है।

फिल्म का बजट

180 करोड़ लागत और 25 करोड प्रदर्शन एक विगापन मिलाकर कूल 205 करोड़ हो चुका है, जिसमे से फिल्म ने सेटेलाइट अधिकार 120 करोड़ में एवं संगीत अधिकार 10 करोड़ में बिक चुके है, 130 करोड़ की कमाई फिल्म प्रदर्शन पूर्व की कर चुकी है। फिल्म पहले दिन 35 से 45 करोड़ की शुरूआत ले सकती है।

छायांकन

बेज जेस्पर का फिल्मांकन बेशक विश्वस्तर का है, लोकेशन्स को खूबसूरत बनाने के साथ एक्शन दृश्यों को भी कमाल बना दिया है। खासकर चेसिंग सीन को, बाइक, कार, प्लेन सभी चेसिंग सरन काबिले तारीफ है।

अंत मे फिल्म एक्शन से भरपूर है, जिसके लिए युवा वर्ग को बहुत आकर्षित करने में कामयाब होगी। फिल्म को थोड़ा छोटा किया जा सकता था। 2 घण्टे 34 मिंट में काटछाट सम्भव थी। लेकिन, फिल्म का एक्शन भरपाई कर देता है। अब्बास टायरवाला के संवाद तालियों से हाल गुंजा जाते है।

फिल्म को 3.5स्टार्स

फिल्म समीक्षक
इदरीस खत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here