आज स्कूलों में मनाया गया “विश्व पर्यावरण दिवस”

0
34

शा उ मा वि बड़ावदा इको क्लब प्रभारी शांतिलाल कुमावत के साथ छात्र/ छात्राओं ने स्कूल परिसर में पोधो को पानी दिया। साथ में प्लास्टिक के दुष्परिणाम बताकर प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने की सपथ ली।

इको क्लब प्रभारी के घर छात्र/छात्राओ को लगाये गए पौधो को दिखाया।इसमें संदेस था की “आप जो कहो वह करो”

इको क्लब के प्रभारी होने के कारण मुझे भी पेड़ पौधे से लगाव हुआ।इसी कारनआज मेरे घर पर कई प्रजातियों के पौधो के कारण बारह माह हरियाली रहती हे।इसको देख कर औरो को भी पेड़ पौधे लगाने की प्रेरणा मिलती हे।

सम्मिलित इको क्लब के छात्र/छात्रा कविता-अंतर सिंग मलीवाड़,शिवांगी-राकेश राठोर, चंचल -कमलेश गेहलोत,शिवांगी-चेतन पड़ियार,तनीषा-पवन कुमावत,चारु-राकेश राठोर,टीना-सुमेर सिंह,राहुल -कृष्ण पोरवाल,अंकित-भेरू मरू,विनोद प्रजापत, विजय बोरिवाल आदि उपस्थित थे।

विस्व पर्यावरण दिवस पर भारत सरकार द्वारा वर्ष 2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग को फेज आउट करने का संकल्प लिया हे।भारत सरकार द्वारा लीये गए संकल्प के अनुरूप मध्यप्रदेस शासन के समस्त कार्यालयों को सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त घोसित किया गया है।कार्यालयों में होने वाले सर्वजनिक कार्यक्रमो के दौरान डिस्पोज़ल प्लास्टिक वस्तुऍ,प्लास्टिक कैरी बेग्स,फूड पैकेजिंग, प्लास्टिक फ्लावर पार्ट, बैनर झंडे,पैट बॉटल्स,कटलरी प्लेट्स,कप,ग्लास,स्ट्रा फोर्कस, स्पून्स, पाऊच/शेसे आदि तथा थर्माकोल से निर्मित सजावट एवम अन्य सामान को प्रतिबंधित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here